मोहाली में खुला दुनिया का पहला ‘सेल्फ  सस्टेनेबल स्किल सेंटर’

चंडीगढ़ – दुनिया के पहले ‘सेल्फ सस्टेनेबल स्किल सेंटर’ का उद्घाटन  अमरदीप सिंह बैंस, एडीसी (डिवेलपमेंट) मोहाली ने  स्वाभोविक सेंटर में किया गया। उन्होंने कहा कि ‘जीवन कौशल और तकनीकी कौशल प्रदान करना (वो भी स्कूली उम्र के  बच्चों को) ही उनकी कामयाबी की सीढ़ी है। विवेक अत्रे ने अप-साइकिल सेंटर का उद्घाटन करते हुए कहा कि सामाजिक सेवाओं का संपूर्ण सरगम यहां देखने को मिल रहा है। लोगों को अप-साइकलिंग के लिए उत्पादों का दान करने से लेकर स्कूली छात्रों तक, जो उत्पादों की मरम्मत करते हैं और उन्हें मरम्मत लागत पर सामुदायिक कार्यकर्ता को बेचते हैं, ऐसी योजना संभवतः विश्व में पहली बार देखने को मिल रही है । यह खुशी की बात है कि सिर्फ 400 रुपये  में  एक डेस्कटॉप कंप्यूटर दिया जा रहा है। मैं उन्हें बहुत शुभकामनाएं देता हूं। पत्रकारों से रू-ब-रू  समाजसेवी  नीरज मेहता, जिन्होंने 2004 में स्वाभोविक की स्थापना की, ने कहा शिक्षा एक वरदान है, लेकिन केवल तभी जब रोजगार का समर्थन किया जाए। हमारी प्रणाली ने एक ‘सीखो और कमाओ’ कार्यक्रम विकसित किया है। हमारा इनोवेटिव टूल बच्चों को प्रेरित करता है और उनकी छुपी हुई प्रतिभा को पहचानकर उन्हें आगे के लिए बेहतरीन करियर का रास्ता सुझाता है। हम अपनी सेवाएं  सरकारी स्कूलों को पूरी तरह से निःशुल्क प्रदान करते हैं।

You might also like