विजिलेंस ने कब्जे में लिया एमसी धर्मशाला का रिकार्ड

धर्मशाला – राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो उत्तरी क्षेत्र धर्मशाला द्वारा रिश्वत मामले में नगर निगम का रिकार्ड कब्जे में लिया गया है। इसके अलावा अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों से भी पूछताछ की जा रही है। वहीं, गुरुवार को रिश्वत मामले में पकड़े गए नगर निगम के जेई को न्यायालय में पेश किया गया। रिश्वत के आरोपी जोगेंद्र सिंह को न्यायालय से चार दिन का पुलिस रिमांड दिया गया है। वहीं, विजिलेंस ने मामले के तहत जांच को तेज़ करते हुए एमसी धर्मशाला के अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों से भी पूछताछ की है। साथ ही निगम का मामले से संबंधित सभी रिकार्ड कब्जे में ले लिया है। इतना ही नहीं, जेई के घर सहित जांच के दायरे में आए अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों के घरों में भी छापामारी की जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गिरफ्तार जेई ने दो लाख रिश्वत सहित अन्य मामलों को लेकर भी इनपुट दिए हैं। इसके आधार पर विजिलेंस की टीम जांच करने में जुटी हुई है। इसके अलावा एक और बड़ा तथ्य निकलकर सामने आ रहा है, जिसके तहत आरोपी सहित अन्य लोगों ने महंगे गिफ्ट सहित अन्य सामान खरीदे हैं। इसके आधार पर आय से अधिक संपत्ति के मामले के तहत भी विजिलेंस ने जांच तेज़ कर दी है।   जिला मुख्यालय धर्मशाला के अन्य भी कई सरकारी कार्यालय विजिलेंस की जांच की राडार में चल रहे हैं। इनसे लगातार आम लोगों की भ्रष्टाचार संबंधित शिकायतें मिल रही हैं। जिस पर शिकंजा कसने की तैयारी विजिलेंस ने कर ली है। वहीं, विजिलेंस की बड़ी कार्रवाई से लोगों में काफी खुशी देखने को मिल रही है।  अब लोग अधिक जागरूक होकर भ्रष्टाचार संबंधी शिकायतें लेकर विजिलेंस थाना धर्मशाला में पहुंच रहे हैं। ऐसे में सरकारी कार्यालयों में टेबल के नीचे से पैसे लेने वाले कर्मचारियों के खिलाफ बड़ा एक्शन किए जाने की तैयारी है।

यह है सारा मामला

गुरुवार को एमसी धर्मशाला के जेई को एक लाख रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों एमसी कार्यालय के बाहर ही गिरफ्तार किया गया था। वहीं, शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि एक लाख रुपए पहले ही रिश्वत के जेई ने ऐंठ लिए थे। उधर, विजिलेंस एसपी अरूल कुमार ने बताया कि आरोपी को न्यायालय में चार दिन का पुलिस रिमांड मिला है, अब दो सितंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मामले को लेकर गंभीरता से जांच की जा रही है, इसमें संबंधित क्षेत्रों में छापामारी की जा रही है।

You might also like