शाईरोपा में संग्रहालय न बना तो तल्ख होगा सराज

बंजार -बंजार में मंगलवार को टूरिज्म एसोसिएशन की बैठक  हुई, जिसकी अध्यक्षता एसोसिएशन के अध्यक्ष एमएस राठौर ने की। इस बैठक में कई महत्त्वपूर्ण प्रस्ताव पारित किए गए। उनका कहना है कि 2009 में सराज में पर्यटन को विकसित करने के लिए प्रोजेक्ट डीसी कुल्लू के माध्यम से सरकार को भेजा गया था। 2018 तक सभी प्रोजेक्ट सीएम के समक्ष कार्रवाई करने के लिए लाए गए थे, पर उस पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। एसोसिएशन ने कहा कि बंजार में टूरिज्म सेंटर बनाने की मांग कई वर्षों से कर रहे हैं, लेकिन अब तक मांग पूरी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि सराज टूरिज्म एसोसिएशन का मकसद सराज में टूरिज्म को बढ़ावा देना है, उसके लिए सड़कों की सही रखरखाव होना अनिवार्य है। उन्होंने यह प्रस्ताव पारित करते हुए कहा कि ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क का सारा क्षेत्र बंजार मंडल में पड़ता है और दिल्ली सरकार द्वारा शाइऱोपा एक पर्यटन संग्रहालय प्रस्तावित था और उसको यहां से छीन के शमशी स्थानांतरित किया गया। एसोसिएशन के अनुसार यदि यह संग्रहालय शाईरोपा में नहीं बना तो पूरा सराज तलख हो जाएगा। उन्होंने कहा कि देहूरी में सुंदर 40 बीघा का प्लॉट, जिसमें नेशनल पार्क घोषित किया गया था, उस पर भी कोई भी कार्रवाई नहीं हुई। इस अवसर पर अध्यक्ष एमएस राठौर, इंदु पटियाल, राजीव भारती, प्रकाश ठाकुर, जसविंदर सिंह, शारदा कटोच, टीसी मंहत आदि पदाधिकारी लोग तथा अन्य लोग भी उपस्थित रहे।

 

 

You might also like