सड़कों के बीच ही खड़ी की टैक्सियां

भरमौर में मणिमहेश यात्रा के दौरान पुलिस-टैक्सी आपरेटरों में पनपा विवाद

भरमौर –मणिमहेश यात्रा के बीच उपमंडल मुख्यालय भरमौर में पुलिस और टैक्सी आपरेटरों की बीच विवाद हो गया, जिस पर गुस्साए आपरेटरों ने हड़ताल कर अपने वाहन सड़क किनारे खड़े कर दिए। अलबता रविवार को दोपहर बाद तक भरमाणी और हड़सर के लिए स्थानीय आपरेटरों के वाहन नहीं दौड़े। इस बीच प्रशासन की ओर से एडीएम भरमौर पीपी सिंह और एएसपी रमन शर्मा के हस्तक्षेप के बाद मामला सुलझा लिया गहरा। बहरहाल इस पूरे घटनाम के बीच मणिमहेश यात्रियों को टैक्सी सेवा नहीं मिल पाई और पैदल ही उन्हें भरमाणी माता मंदिर की ओर जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। जानकारी के अनुसार भरमौर स्थित पुराने बस अद्दे पर टैक्सियों को खड़ा करने को लेकर विवाद हो गया। चालकों का आरोप है कि पुलिस ने अपने वाहन यहां खड़े कर दिए। आरोप है कि इस दौरान एक चालक और आपरेटर की पुलिस ने पिटाई भी कर दी। जिस पर देर रात को ही सभी टैक्सी आपरेटरों ने अपने-अपने वाहन खड़े कर दिए। इस बीच रविवार सुबह से दोपहर बाद तक चालकों ने अपने वाहन नहीं चलाए और इस बावत एडीएम भरमौर के समक्ष अपनी शिकायत भी दर्ज करवाई। चालकों व आपरेटर्ज के शांतिपूर्ण प्रर्दशन के बाद प्रशासन की ओर से एडीएम भरमौर पीपी सिंह, मेला अधिकारी एवं एएसपी चंबा रमन शर्मा, डीएसपी रोहिन डोगरा और डीएसपी अजय कुमार ने स्थानीय रेस्ट हाउस में चालकों व आपरेटरों से बैठक की। इस दौरान पूर्व मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी भी मौजूद रहे। इस दौरान चालकों व आपरेटरों ने पुलिस पर पिटाई करने के आरोप जड़े। साथ ही ओल्ड बस स्टैंड पर वाहन खड़े न करने देने का मामला भी उठाया। इसके अलावा चालको व आपरेटरों ने एक पुलिस अधिकारी को लेकर अपना रोष जाहिर किया। अलबता काफी देर तक दोनों पक्षों के बीच चली बैठक के बाद विवाद को सुलझा लिया गया है। टैक्सियों की आवाजाही भी आरंभ हो गई।

You might also like