सतलुज बहा ले गई खेत

श्रीआनंदपुर साहिब के दर्जन गांवों पर कहर, के्रटवाल की मांग

श्रीआनंदपुर साहिब -वर्ष 1998 के बाद इस साल आई बाढ़ के कारण यहां एक दर्जन के करीब गांवों को भारी नुकसान झेलना पड़ा है। वहीं, कई गांव की उपजाऊ जमीन सतलुज दरिया में समा गई है। गांववासियों ने मांग की है कि जल्दी से जल्दी क्रेटबाल लगा कर सतलुज दरिया के पानी से उपजाऊ जमीन को बहने से रोका जाए। गांव लोदीपुर के सरपंच हरजाप सिंह, पंच बलदेव सिंह बिल्लु, जोगा सिंह, सुखविंदर सिंह बंटी, अमरजीत सिंह भुल्लर व हरदीप सिंह बबली आदि ने बताया कि इस साल आई बाढ़ के कारण गांव लोदीपुर बरोटू बास के किसानों की करीब 30 एकड़ जमीन सतलुज दरिया के पानी में समा गई है पुणे बताया की बाढ़ से पहले भी सतलुज दरिया के पानी से किसानों की उपजाऊ जमीन को कटाव निरंतर हो रहा था । उ न्होंने बताया की बाढ़ के कारण खेतों में  10 से 20 फुट गहरे खड्डे पड़ गए हैं। रेत और पत्थरों के ढेर खेतों में लगे हुए हैं। लोगों ने उपजाऊ जमीन को लग रहे कटाव को क्रेटवॉल लगाकर रोकने की मांग की है। निर्मल सिंह हरिवाल, पंच रघुवीर सिंह, कमल सिंह, पंच सज्जन सिंह, भूपेंद्र सिंह, सुखदेव सिंह व नरेंद्र सिंह आदि ने बताया कि गांव चंदपुर तथा हरीबाल गांव की कई एकड़ जमीन इस बार  सतलुज दरिया में समा गई है। सरकार और प्रशासन उनकी समस्या का हल जल्द करे, ताकि उनकी और भूमि बाढ़ का शिकार न बनें।

 

You might also like