सीमा पर हर हिमाकत का देंगे करारा जवाब

एलओसी पर पाक सेना की हलचल पर बोले सेना प्रमुख, हर तरह की चुनौती से निपटने को तैयार हैं जवान

नई दिल्ली- अनुच्छेद 370 पर नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में तल्खी बरकरार है। यह तल्खी लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर भी दिख रही है। खबर है कि पाकिस्तानी सेना एलओसी की ओर बढ़ रही है और लद्दाख के सामने अपने एयरबेस में लड़ाकू विमानों की तैनाती कर रही है। पाकिस्तानी सेना की इस तैयारी पर भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि हम अलर्ट हैं। अगर वह एलओसी पर आना चाहते हैं तो यह उन पर निर्भर करता है। उनको जवाब मिलेगा। सेना प्रमुख ने सीमा पर पाकिस्तानी सेना की हाल की हलचल को सामान्य गतिविधि करार देते हुए कहा है कि एहतियात के तौर पर सभी तैनाती करते हैं और भारतीय सेना हर तरह की चुनौती से निपटने को तैयार है। जनरल रावत ने आज यहां रक्षा क्षेत्र में स्टार्ट अप के बारे में एक सेमिनार को संबोधित करने के बाद पाकिस्तानी सेना की सीमा पर तैनाती से संबंधित पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि हर कोई एहतियात के तौर पर तैनाती करता है और इसे लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि यह सामान्य गतिविधि है। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि दुश्मन नियंत्रण रेखा पर सक्रिय हलचल चाहता है तो यह उसकी मर्जी है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना पाकिस्तान की किसी भी हरकत से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। जनरल रावत का यह बयान जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद घाटी में शांतिपूर्ण ढंग से ईद मनाए जाने के एक दिन बाद आया है। राज्य से संविधान के अनुच्छेद 370 और 35-ए को हटाए जाने के बाद से वहां स्थिति को सामान्य बनाये रखने के लिए विभिन्न पांबदियां लगाई गई हैं।

कश्मीरियों से बिना बंदूक मिलते रहेंगे सुरक्षाबल

एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सेना कश्मीरियों के साथ पहले की तरह सामान्य बातचीत कर रही है और सुरक्षाबल उनसे बिना बंदूक के मिलते रहेंगे जैसे 1970-80 के दशक में मिलते थे।

You might also like