सेब की 22 लाख पेटियां बाजार में

सोलन के रास्ते देश भर में पहुंच रही फसल, बारिश से सप्लाई में दिक्कत

सोलन  – सोलन के रास्ते अब तक सेब की करीब 22 लाख पेटियां देश की विभिन्न मंडियों में पहुंच चुकी हैं। इसका खुलासा परवाणू के समीप चक्की मोड़ में विभिन्न विभागों के चैक पोस्ट में दर्ज आंकड़ों से हुआ है। आंकड़ों के अनुसार कालका-शिमला नेशनल हाई-वे से देश के कोने-कोने तक सेब की खेप पहुंचाई जा रही हैं। पेटियों की संख्या के आधार पर अंदाजा यह भी लगाया जा रहा है कि अब तक तकरीबन सेब का 15 प्रतिशत व्यापार हो चुका है। जिला की दोनों बड़ी मंडियों में भी अभी तक लाखों की संख्या में पेटियां पहुंच चुकी हैं। मंडी समिति सोलन के अनुसार अब तक सेब यार्ड परवाणू में करीब 7.5 लाख, जबकि सोलन में करीब 2.5 लाख पेटियां बिक चुकी हैं। इस बार परवाणू की अपेक्षा सोलन में व्यापार कम है। दूसरी ओर बाहरी राज्यों में अधिक बारिश होने के कारण सेब के दाम भी काफी कम हो चुके हैं। तीन हजार रुपए तक बिकने वाले सेब की कीमत 1600 रुपए तक पहुंच गई है। यही नहीं, बारिश ने भी किसानों को तगड़ा झटका दिया है। बारिश के कारण टमाटर देश की मंडियों में पहुंचाना मुश्किल हो गया है। मौजूदा समय में टमाटर 200-700 रुपए तक बिक रहा है। जानकारी के अनुसार अकेले सोलन मंडी में अब तक करीब तीन लाख के आसपास क्रेट पहुंच चुके हैं और टमाटर का तकरीबन आधा सीजन समाप्त हो गया है। कृषि उपज एवं मंडी समिति के सचिव प्रकाश कश्यप ने कहा कि चक्की मोड़ स्थित एपीएमसी एवं अन्य विभागों की चैक पोस्ट के अनुसार अभी तक सोलन के रास्ते से करीब 22 लाख सेब की पेटियां देश की विभिन्न मंडियों में पहुंच चुकी हैं। बाहरी राज्यों में हो रही बारिश के कारण सेब एवं टमाटर की फसल को मंडियों तक पहुंचाना मुश्किल हो गया है।

You might also like