स्क्रब टायफस ने ली पांच की जान

मंडी के 73 वर्षीय बुजुर्ग ने आईजीएमसी में तोड़ा दम

शिमला  – आईजीएमसी में स्क्रब टायफस से एक और मौत हो गई है। मंडी के 73 वर्षीय पुरुष की जान अस्पताल में चली गई है। एक माह के भीतर यह पांचवीं मौत हुई है। इससे पहले शिमला से आठ वर्षीय बच्ची की मौत अस्पताल में हुई थी। इससे पहले सुन्नी शिमला की रहने वाली 60 वर्षीय सत्या देवी काल का ग्रास बन चुकी थी। पहली मौत कोटखाई से 32 वर्षीय तुलसी और मंडी से तीस वर्षीय निशा कुमारी की मौत आईजीएमसी में हो चुकी है। आईजीएमसी के एमएस डा. जनक राज का कहना है कि अस्पताल में भर्ती बुजुर्ग की हालत स्थिर नहीं थी, जिससे उसकी मौत अस्पताल में हो गई है। बुधवार को आईजीएमसी में दो अन्य प्रभावितों के  मामले पॉजिटिव आए हैं। इसमें एक मंडी और दूसरा शिमला से है। बुधवार को बीस केस स्क्रब को लेकर टेस्ट किए गए थे, जिसमें दो की फिर पुष्टि हुई है। प्रदेश में अब स्क्रब और घातक होने लग पड़ा है। देखा जाए तो प्रदेश में चार वर्षों में स्क्रब टायफस के  ग्राफ में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है, जिसमें अभी तक सामने आया है कि प्रदेश में अब तक स्क्रब टायफस के 232 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें 89 मामले जिला बिलासपुर, 47 कांगड़ा, 42 हमीरपुर, 20 मंडी,14 शिमला, आठ सोलन, छह चंबा, एक कुल्लू, एक किन्नौर तथा एक मामला सिरमौर में दर्ज किया गया है। अब मामले बढ़ने लगे हैं, लिहाजा जनता को भी सतर्क रहना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग ने साफ किया है कि स्क्रब टायफस की निःशुल्क जांच व उपचार सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध है।

You might also like