हरिपुरधार-कुपवी मार्ग तीसरे दिन भी बंद

नौहराधार -भारी बारिश के कारण तीन दिनों बाद भी गिरिपार क्षेत्र में जन जीवन सामान्य नहीं हो पाया है। क्षेत्र में डेढ़ दर्जन से अधिक सड़कें अभी भी बंद हैं। कुपवी क्षेत्र का संपर्क तीन दिनों से राजधानी शिमला से कटा हुआ है। क्षेत्र को राजधानी से जोड़ने वाले हरिपुरधार-कुपवी मार्ग पर तीसरे दिन भी यातायात बहाल नहीं हो पाया है। उपमंडल चौपाल को जोड़ने वाला कुपवी-सेंज खड्ड-नेरवा मार्ग भी पिछले तीन दिनों से बंद है। क्षेत्र के लोगों को राजधानी व जिला मुख्यालय जाने के लिए 28 किमी पैदल चलकर हरिपुरधार पहुंचना पड़ रहा है। कुपवी क्षेत्र में लगभग दर्जन भर संपर्क मार्ग ऐसे हैं जिन्हें खोलने के लिए लोक निर्माण विभाग की ओर से अभी तक कोई भी प्रयास नहीं किए गए हैं। लोक निर्माण मंडल संगड़ाह में भी अभी कई मार्ग अवरुद्ध हैं, जिससे ग्रामीणों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार देर रात को दो मुख्य सड़कें हरिपुरधार-शिलाई व नौहराधार-सोलन-मिनस मार्ग को विभाग द्वारा खोला गया है। बाकी अभी एक दर्जन से अधिक मार्ग बंद हैं। अभी कई मार्गों की दुर्दशा बहुत खराब है जिसे खोलने में विभाग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। गिरिपार क्षेत्र के सभी प्रमुख मार्गों पर यातायात बहाल हो गया है, मगर क्षेत्र के करीब डेढ़ दर्जन से अधिक लिंक रोड अभी भी बंद हैं। गोंठ गांव वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के समीप बने हैंडपंप पर चट्टानें व मलबा गिरने से हैंडपंप मलबे में दब गया है। हैंडपंप के दबने से गोंठ व हरनाह गांव में पीने के पानी का गंभीर संकट पैदा हो गया है। सबसे अधिक परेशानियों का सामना वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल गोंठ में शिक्षा ग्रहण करने वाले 500 से अधिक छात्र-छात्राओं को करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने आईपीएच विभाग के अधिकारियों से मांग की है कि हैंडपंप से जल्द ही मलबा हटवा कर उसे चालू किया जाए। इसके अलावा लगभग तीन पंचायतों को मोबाइल सेवा प्रदान करने वाला एयरटेल के टावर में तकनीकी खराबी आने से यह टावर पिछले तीन दिनों से बंद है। सिग्नल न आने की वजह से ग्रामीणों के फोन तीन दिनों से बंद पड़े हैं।

You might also like