हिमाचल में बारिश से यमुना नदी खतरे के निशान से उपर

चंडीगढ़ – हिमाचल प्रदेश सहित पश्चिमोत्तर क्षेत्र में दक्षिण पश्चिम मानसून के सक्रिय होते ही पिछले चौबीस घंटों में कुछ स्थानों पर बारिश हुई जिससे यमुना नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है । मौसम केन्द्र के अनुसार अगले दो दिन में अनेक स्थानों पर तथा उसके बाद अधिकांश स्थानों पर बारिश होने की संभावना है । कहीं कहीं भारी बारिश की चेतावनी दी गई है । हिमाचल प्रदेश में कई स्थानों पर औसत बारिश होने से हरियाणा में यमुना नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है जिसके कारण हथनीकुंड बैराज से एक लाख तेंतालीस हजार क्यूसिक पानी छोड़ना पड़ा । यह पानी 72 घंटो में दिल्ली पहुंचेगा । जिला प्रशासन ने नदी से लगते इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया है । प्रशासन ने यमुना नदी के साथ लगते इलाकों में लोगों को न जाने की चेतावनी जारी की है । हिमाचल से लगते हरियाणा के नदी नाले उफान पर हैं ।चंडीगढ़ के कुछ इलाकों में आज 11 मिमी , अंबाला 19 मिमी , करनाल दो ,नारनौल 47 मिमी , लुधियाना 12 मिमी , पठानकोट 24 मिमी , आदमपुर सात मिमी , गुरदासपुर 90 मिमी , दिल्ली 10 मिमी सहित हरियाणा और पंजाब के कुछ इलाकों में बारिश हुई । हिमाचल में कई स्थानों पर बारिश हुई । धर्मशाला 41 मिमी , मंडी 34 मिमी , नाहन 43 मिमी , शिमला 37 मिमी , सुंदरनगर 23 मिमी , मनाली 46 मिमी , सोलन 18 मिमी , कांगडा 14 मिमी , सुजानपुर टीहरा 18 मिमी , गुलेर 25 मिमी , काहू 28 मिमी , रामपुर 12 मिमी , नंगल सहित जलग्रहण क्षेत्राें में आैसत बारिश हुई जिससे नदी नालों का जल स्तर बढ़ गया है । बारिश के कारण पारे में गिरावट आयी तथा उमस से राहत मिली है । अगले चार दिनों में बारिश की संभावना को देखते हुये उमस से राहत मिलने की उम्मीद है ।

You might also like