13 लोगों से ठग लिए दो करोड़

यमुनानगर में चिटफंड कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज, फिल्मों में काम करने के दिखाए थे सपने

पंचकूला -हरियाणा के यमुनानगर जिले में एक चिटफंड कंपनी ने लोगों को फिल्मों में काम करने के ऐसे सपने दिखाए, जिससे वे कंपनी के जाल में फंस गए। इस दौरान कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर व मैनेजर ने अपने कर्मचारियों के साथ मिलकर करीब 13 सौ लोगों से दो करोड़ रुपए ठग लिए। अब जब लोगों को न तो फिल्मों में काम मिला और न ही पैसे वापस मिले, तो उन्होंने इसकी शिकायत सीएम विंडो व पुलिस अधीक्षक को दी। पुलिस अधीक्षक ने आरोपियों के खिलाफ  मामला दर्ज करने के निर्देश दिए। शहर जगाधरी पुलिस ने मामले की जांच के बाद कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर व मैनेजर समेत नौ लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। गुमथला राव निवासी कुलवंत सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वे 2015 में कंपनी के संपर्क में आए। इससे पहले रायल्स गोल्ड प्लस चिट फंड कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर नरेंद्र व मैनेजर मनोज की गुमथला से यमुनानगर आते हुए पीडि़त अमित की मुलाकात हुई थी। आरोपियों ने उसे कंपनी के प्लान बताएं। उसने पहली बार तीन हजार रुपए कंपनी में लगाए थे। इसके बाद उसे अन्य लोगों को कंपनी के साथ जोड़ने के लिए कहा। इस तरह से अन्य लोग कंपनी के साथ जुड़ने लगे। उस दौरान कंपनी के साथ जुड़े लोगों ने पांच-पांच हजार रुपए कंपनी में लगाए। आरोपियों ने उन्हें कहा कि अगर वह कंपनी में 17-17 सदस्य जोड़ेंगे, तो उन्हें मोबाइल मिलेगा। कंपनी के लोग होटलों में सेमिनार करते थे। वहां पर लोगों को फंसाने के लिए कुछ लोगों को उपहार दिए जाते थे। इस तरह से आरोपी यमुनानगर के आसपास के अन्य जिलों में भी सेमिनार करने लगे। इसके बाद आरोपियों ने उन्हें प्लान बताया कि उनको फिल्मों में रोल दिया जाएगा। वहां पर उन्हें हीरो और हीरोइनों के साथ काम करने का मौका मिलेगा। इसके लिए आरोपियों ने हीरो-हीरोइनों से मिलवाने के नाम पर उनसे दो-दो लाख रुपए कंपनी में लगवाए। तब तक कंपनी के करीब 13 सौ सदस्य बन चुके थे। जब लोगों को न तो फिल्मों में काम मिला और न ही कंपनी अपने अन्य वादों को पूरा कर पाई, तो लोगों ने अपने आप को ठगा महसूस किया।

 

You might also like