अगली बार हिमाचल में मछलियां बेशुमार।

बिलासपुर। हिमाचल के जलाशयों में इस बार 70 एमएम से अधिक आकार का बीज डाला जाएगा। इस लक्ष्य की शुरुआत गोबिंदसागर में मत्स्य निदेशक सतपाल मेहता की देखरेख में 4.19 लाख मछली बीज डाल कर की गई। यहां कुल 10 से 12 लाख सिल्वर कार्प प्रजाति की मछली का बीज डालने का टारगेट रखा है। इसके अलावा पौंग, चमेरा और कोलडैम में भी पिछले साल की तुलना में इस बार अधिक बीज डालने का निर्णय लिया है। मत्स्य निदेशक सतपाल मेहता ने बताया कि इस बार गोबिंदसागर में मछली की बेहतर ग्रोथ पाई गई है, जिसके तहत पिछले साल की तुलना में इस बार ज्यादा मछली पैदा करने की योजना है। वहीं,, बीज पश्चिम बंगाल से मंगवाया गया है। उनके मुताबिक पौंग डैम में आठ से दस लाख मछली बीज डाला जाएगा। चमेरा डैम में सिल्वर कार्प दो लाख और कोलडैम में तीन से चार लाख मछली बीज डालने की तैयारी है। वहीं, भाखड़ा डैम में सिल्पर कार्प का 20 से 25 एमएम का बीज डाला जाएगा।

You might also like