अढ़ाई लाख छात्रों को मिलेंगे ग्रे रंग के बैग

अगले महीने मिलेगी सौगात, शिक्षा विभाग ने सैंपल मिलान के बाद बांटने के दिए निर्देश

शिमला – अब अक्तूबर माह से अधिकतर छात्र ग्रे रंग के बैग में दिखाई देंगे। बैग के सैंपल सही पाए जाने पर स्कूल प्रबंधन छात्रों को आबंटन करना शुरू कर देंगे। शिक्षा विभाग ने इस बाबत स्कूल प्रधानाचार्यों को आदेश जारी कर दिए हैं। जानकारी मिली है कि सरकार ने जिन कंपनियों को बैग खरीद को लेकर टेंडर दिए थे, उन्होंने बैग खरीद लिए हैं। खास बात यह है कि तीसरी, छठीं व  नौवीं कक्षा के सभी छात्रों के पास अलग-अलग आकार के स्कूल होंगे। यानी कि कक्षा व बुक्स के हिसाब से स्कूल बैग की सुविधा छात्रों को दी जाएगी। स्कूल बैग छात्रों को देने के आदेश शिक्षा विभाग की ओर से जारी कर दिए गए हैं। 2.56 लाख छात्रों को अक्तूबर माह से स्मार्ट व नए आकार के बैग दिखाई देंगे, लेकिन स्कूल बैग देने से पहले इनका सैंपल मिलान करना जरूरी होगा। इसकी जिम्मेदारी प्रारंभिक शिक्षा निदेशक की ओर से स्कूल प्रिंसीपल्स को सौंपी गई है। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने सभी प्रिंसीपल्स की अध्यक्षता में कमेटियां गठित कर मास्टर सैंपल से सप्लाई का मिलान करने के बारे में आदेश जारी कर दिए हैं। बिना सैंपल मिलान के अगर किसी स्कूल में बैग बांटे गए, तो संबंधित प्रिंसीपल के खिलाफ कार्रवाई होगी। इन स्कूल बैग की खरीद खाद्य आपूर्ति निगम की ओर से की जा रही है। अगर बैग का सैंपल मिलान नहीं होता है, तो यह बैग स्कूलों में आबंटित नहीं किए जाएंगे और इसकी जानकारी शिक्षा विभाग के साथ ही खाद्य आपूर्ति विभाग को देनी आवश्यक होगी। बता दें कि बैग खरीद के लिए खाद्य आपूर्ति निगम ने चार कंपनियों को बीते 17 अगस्त को सप्लाई आर्डर जारी किया है। चयनित चार कक्षाओं में पढ़ने वाले लड़के-लड़कियों को अलग-अलग रंग के बैग दिए जाएंगे। लड़कों को ऑलिव ग्रीन मिक्स ग्रे और लड़कियों को चेरी मिक्स ग्रे रंग के बैग मिलेंगे।

सरकारी स्कूलों में बढ़ेगा रुझान

खास बात यह है कि स्कूली छात्र भी नए बैग को लेकर काफी उत्साहित हैं। शिक्षा विभाग का दावा है कि इससे सरकारी स्कूलों की ओर छात्रों का रुझान और भी बढ़ जाएगा। वहीं स्कूलों में छात्रों की घटती संख्या भी कम हो जाएगी। फिलहाल पहली बार स्कूलों में छात्रों को फ्री बैग देने की योजना शुरू की जा रही है। हालांकि योजना को पूरा करने के लिए सरकार को डेढ़ साल का समय लग गया। अहम यह है कि अंत में अब वर्दी के साथ छात्रों को बैग की सुविधा भी शिक्षा विभाग देने जा रहा है।

You might also like