अर्की में ‘पिया रे पिया रे’ ने जमाया रंग

जिला स्तरीय सायर मेले की दूसरी सांस्कृतिक संध्या पर हिंदी व पहाड़ी गायकों ने बांधा समां

अर्की –सायर मेले की दूसरी संध्या हिंदी व पहाड़ी गायकों के नाम रही। सारेगामा फेम जिला कुल्लू की गायिका पायल ठाकुर ने मेरे रश्के कमर, दिल मुफ्त का, ओ लाल मेरी तथा नैना आदि गीत प्रस्तुत कर दर्शकों की तालियां बटोरीं। स्थानीय गायक योगेश मुकुल ने अपने हिंदी गीतों से श्रोताओं को बांधे रखा। योगेश ने तुम जो मिल गए हो, पिया रे पिया रे, अरे दीवानों मुझे पहचानो तेरे बिन नई लगदा जी मेरा ढोलणा आदि हिंदी गीत सुना कर दर्शकों को रिझाने का भरपूर प्रयास किया। पहाड़ी गायक संजीव दीक्षित ने पहाड़ी गाने सुना कर दर्शकों का मनोरंजन किया। उन्होंने भेडां तेरीयां तथा बोतल रह गई ठेके गीत प्रस्तुत किए। संध्या की शुरुआत स्वर संगम कला मंच कलाहरन ने की। मंच के कलाकारों ने स्थानीय कला करयाला का प्रदर्शन कर दर्शकों की तालियां बटोरीं। कांगड़ा के संदीप दीक्षित ने भी श्रोताओं को रिझाने की भरपूर कोशिश की। उन्होंेने कई पहाड़ी गीत प्रस्तुत किए। साथ ही रामपुर के राजीव शर्मा ने भी दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। इससे पूर्व अन्य कलाकारों ने भी अपनी-अपनी प्रस्तुतियों से दर्शकों को रिझाने का प्रयास किया। श्रुति शर्मा ने रात बाकी बात बाकी, हंसराज ने ठंडी-ठंडी हवा जो चलदी, फौजिया कटी लैणी अज की रात, सरला दाडी ने ल्यावणा पिंक प्लाजो रे, रीटा ठाकुर ने सिलको री सिलाई लैणी घघरी तथा संावरिया बीन बजा आदि पहाड़ी गाने प्रस्तुत किए। प्रदेश भाजपा सचिव रतन सिंह पाल व पूर्व विधायक गोविंद शर्मा दूसरी सांस्कृतिक संध्या के मुख्यातिथि रहे। उन्होंने दीप प्रज्वलित कर संध्या का शुभारंभ किया। मेला समिति द्वारा अतिथियों को शाल व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर एसडीएम विकास शुक्ला, अर्की भाजपा के मंडलाध्यक्ष बाबूराम पंवर, जयनंद शर्मा, आशा परिहार, इंद्र पाल शर्मा, देवेंद्र शर्मा, रमेश ठाकुर, आशा परिहार, संतोष शुक्ला, नरेंद्र हांडा, भीम शर्मा, योगेश गौतम, अमर सिंह ठाकुर, सोनिया ठाकुर, हरीश कौशल, यशपाल  सहित अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।

You might also like