असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर सरीन गिरफ्तार

आरोपी को हाई कोर्ट से गिरफ्तार कर ले गई विजिलेंस की टीम

शिमला -असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर (एडीसी) निशांत सरीन को विजिलेंस टीम ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। प्रदेश उच्च न्यायालय से विजिलेंस की टीम उसे गिरफ्तार कर ले गई है। उसे 24 घंटे के भीतर ट्रायल कोर्ट में पेश किया जाएगा। जानकारी के अनुसार बुधवार को निशांत सरीन ने अपनी अग्रिम जमानत याचिका हाई कोर्ट से वापस ले ली। इसके साथ ही विजिलेंस ने उनके खिलाफ कार्रवाई कर दी।  न्यायाधीश संदीप शर्मा ने सुनवाई के दौरान प्रथम दृष्टया पाया था कि प्रार्थी से पूछताछ जरूरी है। इसके अलावा कोर्ट ने सुनवाई के दौरान जुड़े रिकार्ड का अवलोकन करते हुए पाया कि स्टेट विजिलेंस एंड एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम द्वारा गत 21 अगस्त को फार्मा कंपनियों की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था। अभियोजन पक्ष की ओर  से दलील दी गई है कि प्रार्थी निशांत सरीन से पूछताछ की जानी बाकी है, इसलिए उसे जमानत पर रिहा नहीं किया जा सकता। ज्ञात रहे कि पिछले दिनों जांच टीम को आरोपी के ठिकानों पर दबिश के दौरान संपत्ति के साथ विदेशी शराब और अहम दस्तावेज हाथ लगे थे। विजिलेंस के अनुसार कंपनी के प्रबंधकों ने शिकायत में बताया था कि एक अधिकारी उनसे पैसों की मांग करता है। इसमें कभी एयर टिकट तो कभी होटल सहित अन्य ऐशो आराम के खर्च शामिल हैं। इसके बाद एडीसी निशांत सरीन के ठिकानों की जानकारी जुटाने के बाद विजिलेंस ने एक साथ सभी जगह दबिश दी।

पहले भी मिली थी शिकायतें

एडीसी निशांत सरीन इससे पहले नाहन के औद्योगिक क्षेत्र में तैनात था। उसे बद्दी में 12 जून को अतिरिक्त दवा नियंत्रक तैनात किया गया था। उसके बाद से उसके खिलाफ लगातार शिकायतें मिल रही थीं। इससे पहले भी बिलासपुर में उसे एक बार रंगे हाथ रिश्वत लेते पकड़ा गया था। निशांत सरीन के खिलाफ  पुख्ता सबूत इकट्ठे करने के पश्चात स्टेट विजिलेंस एंड एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम द्वारा गत 21 अगस्त को भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था।

You might also like