आधी रात को लैंटल डालने की क्यों आई नौबत

ददाहू के साथ लगते दभूड़ी टिक्कर लिंक रोड पर निर्माणाधीन पुलिया की शटरिंग ध्वस्त, प्रशासन की लापरवाही पड़ी भारी

नाहन-रेणुकाजी के ददाहू के साथ लगते दभूड़ी टिक्कर लिंक रोड पर निर्माणाधीन पुलिया की शटरिंग ध्वस्त होने से छह मजदूरों के दबकर गंभीर रूप से घायल होने के मामले में आधी रात को निर्माण कार्य क्यों किया जा रहा था पर बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है। दभूड़ी टिक्कर लिंक रोड पर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत यह 15 से 20 फुट का लंबा और तकरीबन 20 फुट ऊंचे पुल की शटरिंग आधी रात को उस समय ध्वस्त हो गई जब यहां पर पुलिया पर लेंटल डालने का कार्य किया जा रहा था। इस हादसे में छह मजदूर शटरिंग में दब गए। इनमें से तीन मजदूर खूड़ गांव के हैं। कुशल व हीरा सिंह भाई हैं, जबकि एक मजदूर खालाक्यार जबकि दो अन्य स्थानीय गांव दभूड़ी टिक्कर और डंडोर के हैं। हादसे में तीन लोगों को गंभीर हालत में पीजीआई चंडीगढ़ रैफर किया गया है। वहीं हादसा देर रात को दो बजे के आसपास का बताया जा रहा है, जबकि रेणुकाजी थाना के वाहन हूटर बजाते हुए घटनास्थल की ओर दौड़े। इस दौरान स्थानीय लोगों को भी इसकी जानकारी मिली। वहीं बचाव कार्य में पुलिस और स्थानीय लोग जुट गए। यहां यह सवाल अहम हो रहा है कि आधी रात को ऐसी क्या मजबूरी हो गई कि सार्वजनिक पुलिया का लेंटल डालना पड़ा, जिसने छह लोगों का जीवन खतरे में डाल दिया है। पुलिस ने यह मामला लापरवाही की विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज कर लिया है, जिसमें संबंधित ठेकेदार और लोक निर्माण विभाग के एसडीओ और जेई के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज कर लिया गया है।

You might also like