खूंटी गाड़ते ही मेले का आगाज

ख्योड़ में आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ने नलवाड़ मेले के शुभारंभ पर की बैलों की पूजा

गोहर -डेढ़ वर्ष के कार्यकाल में मुख्यमंत्री द्वारा पर्यटन की दृष्टि से नाचन, करसोग व सराज की घाटियों को विकसित करने के लिए 1892 करोड़ की राशि व्यय की जा रही है। इसी राशि के तहत कमरू घाटी में सबसे ऊंचा गोल्फ कोर्स मैदान भी निर्मित किया जाएगा।  यह बात आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ने ख्योड़ मेले के शुभारंभ पर कही। उन्होंने कहा कि चैलचौक से देवीधड़ तक की घाटी जो कृषि के लिए उत्तम है, उसके लिए भी विभागीय अधिकारियों को सिंचाई हेतु योजना बनाने के लिए सर्वे करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यहां की ग्राम पंचायत चैल चौक, शाला, भिस्ती, कांडी और कमरूनाग के लिए सवा दो करोड़ की पेयजल योजना तैयार की जाएगी। उन्होंने बताया कि उद्यान विभाग के तहत देवीधड़ क्षेत्र में भी विक्रय केंद्र खोला जाएगा, जिससे किसानों को अपने उत्पाद बेचने में सुविधा मिलेगी। गोहर उपमंडल के ख्योड़ में आयोजित आठ दिवसीय जिला स्तरीय नलवाड़ मेला मंगलवार को शुरू हो गया। मेले का  शुभारंभ आईपीएच एवं बागबानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने ग्राम पंचायत बासा के ख्योड़ मैदान में खूंटी गाड़कर व बैल पूजन कर किया। इस मौके पर स्थानीय विधायक विनोद कुमार, उपमंडल मुख्यालय गोहर के तमाम अधिकारियों सहित पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए मुख्यातिथि ने कहा कि  सरकार बागबानों को उद्यान विभाग के माध्यम से अच्छी किस्मों के फलदार पौधे वितरित करने हेतु 12 करोड़ रुपए खर्च कर रही है। श्री ठाकुर ने कहा कि प्रदेष सरकार ने अपने डेढ साल के कार्यकाल में केंद्र से 4300  करोड़ रुपए की विभिन्न योजनाएं स्वीकृत करवाकर एक कीर्तिमान स्थापित किया है। इस दौरान स्थानीय पंचायत प्रधान कमला शर्मा ने मुख्यातिथि महेंद्र सिंह ठाकुर व स्थानीय विधायक विनोद कुमार  को हिमाचली शाल, टोपी व स्मृति चिन्ह से सम्मानित करके क्रमानुसार उनका तथा मंच पर मौजूद विभिन्न विभागों के अधिकारियों व पंडाल में मौजूद लोगों का स्वागत किया। इस अवसर भाजपा पदाधिकारियों, विभिन्न पंचायतों  के प्रतिनिधियों, व्यापार मंडल गोहर के अध्यक्ष एंव वरिष्ठ पत्रकार रमेश शर्मा सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

You might also like