गिरने के कगार पर नाल्टी स्कूल, छात्र तंग

स्कूल भवन की स्लेटनुमा छत गिरने की कगार पर; डर के साए में पढ़ाई कर रहे बच्चें, प्रशासन से लगाई गुहार

बम्म –राजकीय प्राथमिक केंद्र पाठशाला नाल्टी के भवन की स्लेटनुमा चार कमरों की छत जर्जर हालत में गिरने के कगार पर है। छत क्षतिग्रस्त होने के कारण बारिश का पानी कमरों के अंदर व दीवारों पर गिर रहा है, जिससे कमरों के अंदर बैठने बाले बच्चे सुरक्षित नहीं है। किसी भी समय कोई बड़ा हादसा हो सकता है। स्कूल प्रबंधन समिति का कहना है कि इस बारे में संबंधित विभाग को कई बार लिखित व मौखिक रूप में अवगत करवा चुके हैं, लेकिन अब तक कोई भी उचित कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है। अभिभावक रघु राम शर्मा, सीताराम, मनोज कुमार, संदीप शर्मा, संध्या देवी, बबीता देवी, सुनीता देवी, कांता देवी, तारा देवी, राजकुमारी, सुनील, सचिन पायलट, सरोज, रीना देवी व वीना देवी सहित अन्य ने बताया कि स्कूल की छत कभी भी गिर सकती है। उन्होंने बताया कि भवन की इमारती लकड़ी व स्लेट लुढ़क कर नीचे गिर रहे हैं। वहीं बारिश का पानी भी बच्चों व दीवारों के ऊपर गिर रहा है। इसके कारण यहां पर कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। उन्होंने कहा कि स्कूल की इस समस्या के बारे में सरकार व प्रशासन को भी कई बार बताया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई, जिस कारण अभिभावकों में भारी रोष व्याप्त है। उन्होंने सरकार व शिक्षा विभाग से क्षतिग्रस्त छत के निर्माण के लिए बजट का प्रावधान करने की मांग की है। वहीं, मुख्याध्यापिका वीना देवी ने कहा कि इस समस्या के बारे में विभाग को अवगत करवाया गया है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। वहीं, खंड बीआरसी घुमारवीं परमेश्वर लाल ने कहा कि राजकीय प्राथमिक केंद्र पाठशाला नाल्टी के भवन की जर्जर छत का मामला ध्यान में है। सहायक अभियंता को भेजकर अस्टीमेट व पूर्ण दस्तावेज तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। प्राथमिकता के आधार पर छत का पुर्ननिर्माण करवाया जाएगा।

You might also like