गुरुग्राम में बनेगी वेद यूनिवर्सिटी

अगले साल से विश्वविद्यालय में शुरू होगा सत्र, पेड़ों के नीचे होगी पढ़ाई

पंचकूला – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का अनुषांगी संगठन विश्व हिंदू परिषद अपनी पहली यूनिवर्सिटी शुरू करने जा रहा है। वेद विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में अगले साल से पढ़ाई शुरू हो जाएगी। यह विश्वविद्यालय  गुरुग्राम में तैयार हो रहा है। इस विश्वविद्यालय से जुड़े लोगों का कहना है कि इसका मुख्य उद्देश्य वैदिक पद्धति से होने वाली पढ़ाई को बढ़ावा देना है। यहां पर छात्रों को मॉडर्न और वैदिक पाठ्यक्रम को पढ़ाया जाएगा। पुराने समय को ध्यान में रखते हुए यहां पर कुछ क्लास को पेड़ के नीचे भी लगाया जाएगा जैसे प्राचीन काल में होता था। इसके अलावा वैदिक मंत्र और गीता के पाठ को सुबह से शाम तक विभिन्न माध्यमों से कैंपस में लोगों को सुनाया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक कैंपस में एक वैदिक टावर भी बनाया जाएगा, एक ऑडियो-विजुअल स्टूडियो के साथ जिसके अलग-अलग फ्लोर पर हर वेद और उससे जुड़ा साहित्य मौजूद होगा। यहां पर सुरभि सदन (गोशाला), मंदिर और मेडिटेशन हॉल के अलावा यज्ञ शाला भी होगी। यह यूनिवर्सिटी गुरुग्राम में 39.68 एकड़ में तैयार हो रही है। इसका निर्माण कई चरणों में किया जाएगा। इसके अलावा इन सूत्रों ने बताया कि इस यूनिवर्सिटी का उद्देश्य भारत को फिर से विश्व गुरु बनाने के साथ-साथ आधुनिक वैज्ञानिकों, तकनीक से जुड़े लोगों और वैदिक पंडितों को एक कॉमन प्लैटफॉर्म उपलब्ध कराना है, जिससे भारत के ज्ञान की एक नई और व्यापक धारा पैदा हो सके। वहीं अशोक सिंघल वेद विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पहले शैक्षणिक सत्र में 20 सब्जेक्ट पढ़ाए जाएंगे।

You might also like