ज्वालामुखी में बड़ी गाडि़यां बैन, पुलिस अलर्ट

नवरात्र के दौरान धारा-144; ढोल-नगाड़ों और नारियल पर रहेगी पाबंदी, भक्तों को मिलेगी बेहतर सुविधाएं

ज्वालामुखी-विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्रीज्वालामुखी मंदिर में 29 सितंबर से आठ अक्तूबर तक होने जा रहे अश्विन माह के नवरात्र के लिए प्रशासन ने प्रबंध पूरे कर लिए हैं और यात्रियों के लिए नवरात्र के दौरान विशेष प्रबंध किए गए हैं ताकि उनको बेहतर सुविधा मिल सके। सहायक मंदिर आयुक्त एवं एसडीएम ज्वालामुखी अंकुश शर्मा ने कहा कि नवरात्र में धारा-144 लागू रहेगी, जिसके अंतर्गत ढोल नगाड़ों के साथ शस्त्र व नारियल आदि सहित मंदिर में प्रवेश वर्जित होगा। उन्होंने कहा कि पूरे शहर को सात सेक्टरों के सेक्टर आफिसर के सुपुर्द किया जा रहा है। जो मेला अधिकारी को रिपोर्ट करेंगे। इस संदर्भ में मेला प्रबंधन बैठक का आयोजन मंदिर परिसर में हुआ था जिसमें विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने शिरकत की थी जिसमें सभी को अपनी ओर से बेहतरीन सेवाएं देने का आग्रह किया गया था ताकि बाहर से आने वाले यात्रियों को यहां पर आने में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। नवरात्र में लगने वाले लंगरों पर प्रशासन की विशेष नजर होगी। बाहर से आने वाले असामाजिक तत्त्वों पर पुलिस प्रशासन की नजर होगी। शहर में सार्वजनिक स्थलों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। यात्रियों की गाडि़यों के लिए पार्किंग स्थल चिन्हित किए गए हैं। बड़े वाहनों को शहर से बाहर की रोका जाएगा केवल छोटे वाहन शहर में प्रवेश कर सकेंगे। यहां सरकारी व निजी कार पार्किंग में यात्रियों की गाडि़यां खड़ी होंगी। शहर में दो पुलिस की रिजर्व बटालियनें आएंगी इसके अलावा गृहरक्षक, पूर्व सैनिक व सहायक कर्मचारी मेले के दौरान सुरक्षा व्यवस्था देखेंगे। अतिरिक्त सफाई कर्मचारी शहर को सुंदर व स्वच्छ रखने में सहयोग करेंगे। ज्यादा भीड़ हो जाने पर मंदिर को तीन दिन चौबीस घंटे खोला जाएगा। यात्रियों के लिए अतिरिक्त परिवहन सेवा मुहैया करवायी जाएगी। यात्रियों को निःशुल्क भोजन मंदिर व शहर में लंगरों में मिलेगा।मंदिर अधिकारी बीडी शर्मा, तहसीलदार जगदीश शर्मा, तहसीलदार खुंडियां, मझीण, लगढ़ू नायब तहसीलदार समय-समय पर अपनी सेवाएं मेले के दौरान देते रहेंगे।

You might also like