डंगे के ऊपर भी रोपे जा रहे पौधे

कंडाघाट -चंबाघाट से कैथलीघाट तक दूसरे चरण में फोरलेन का कार्य कर रही एरिफ कंपनी एक डिसिप्लिन कंपनी है और यह अपना कार्य बहुत आधुनिक तरीके से कर रही है। यह बात सोलन के डीसी केसी चमन ने सोमवार को कंडाघाट में एरिफ कंपनी द्वारा आयोजित स्वच्छता ही सेवा, जो कि 15 सितंबर से दो अक्तूबर तक मनाया जा रहा है के तहत वन महोत्सव कार्यक्रम के दौरान कही। डीसी सोलन केसी चमन ने कहा कि सलोगड़ा से चायल तक का क्षेत्र बाण का है, जब भी आगे एरिफ कंपनी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करेगी तो वन विभाग के साथ मिलकर  इस क्षेत्र में  पौधारोपण के दौरान बाण के पौधे अधिक से अधिक लगाए । डीसी सोलन ने कार्यक्रम के दौरान एरिफ कंपनी को अपना सुझाव दिया कि चंबाघाट से कैथलीघाट तक जो फोरलेन के कार्य को लेकर कटिंग की जा रही है। कटिंग के दौरान जब डंगा लगाया जा रहा है तो डंगे के ऊपर भी पौधे रोपे जा रहे हैं, इससे स्लाइडिंग नहीं होगी। सोमवार को एरिफ कंपनी द्वारा कंडाघाट के डेढ़ घराट में वन महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में डीसी सोलन केसी चमन ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। जबकि एसडीएम कंडाघाट डा. संजीव धीमान व एरिफ कंपनी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मनीष मोंगा विशेष रूप से उपस्थित रहे।  एरिफ कंपनी के जीएम अमित मलिक ने कार्यक्रम में आए सभी गणमान्य लोगों का स्वागत किया। एरिफ कंपनी द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम का शुभारंभ डीसी सोलन केसी चमन द्वारा पौधारोपण कर किया गया। इस कार्यक्रम में स्कूली बच्चों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान कंडाघाट के डेढ़ घराट व ध्यारी घाट में लगभग 250 विभिन्न प्रजातियों के  पौधे रोपे गए। कार्यक्रम में आईटीआई धर्मपुर (सोलन )  के चेयरमैन दवेंद्र वर्मा, मही पंचायत के प्रधान नंद किशोर,  एरिफ कंपनी के कर्मचारी सहित सेंटमेरी स्कूल के बच्चे व अध्यापक उपस्थित रहे।

 

You might also like