‘दिव्य हिमाचल’ के मंच पर छाए यंग डांसर

प्रदेश के अग्रणी मीडिया ग्रुप के मेगा इवेंट ‘डांस हिमाचल डांस’ सीजन-7 के ऑडिशन में प्रतिभागियों ने आजमाया भाग्य

मस्त हवाओं के घुंघरू और तान छेड़ती नदियां, गूंजती घाटियां, गुनगुनाती प्रकृति और कल-कल बहती नदियां प्रदेश की हर रुह में बसे संगीत व संगीतकार को उभारने के लिए हमेशा तत्पर रहती हैं। इसी कड़ी में  प्रदेश का अग्रणी मीडिया ग्रुप ‘दिव्य हिमाचल’ देवभूमि की छिपी अनेक प्रतिभाओं को निखार कर मंजिल तक पहुंचा रहा है। ‘दिव्य हिमाचल’ के सौजन्य से इस बार भी  ‘डांस हिमाचल डांस सीजन-7’ की प्रतियोगिता में प्रतिभागियों का जोश दिखा…

बिलासपुर -प्रदेश के अग्रणी मीडिया गु्रप दिव्य हिमाचल के लोकप्रिय इवेंट ‘डांस हिमाचल डांस’ सीजन-7 का कारवां शनिवार को बिलासपुर में पहुंचा। शहर के भाषा एंव संस्कृति विभाग के ऑडिटोरियम में डीएचडी के ऑडिशन का आयोजन किया गया जिसमें 40 प्रतिभागियों ने भाग लिया। इंडियन करियर डिफेंस अकादमी बिलासपुर के एमडी मनोज चंदेल व पूर्व प्रशासनिक अधिकारी केडी लखनपाल कार्यक्रम के विशेष अतिथि रहे। इसके अलावा एनआर अस्पताल (चांदपुर) बिलासपुर की एमडी पूजा पाल ने समारोह में पहंुचकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। इस अवसर पर जिला भाषा अधिकारी नीलम चंदेल भी उपस्थित रहीं। कार्यक्रम के दौरान  विशेष अतिथि मनोज चंदेल व केडी लखनपाल को ब्यूरो प्रभारी अश्वनी पंडित ने स्मृतिचिन्ह व टोपी-मफलर देकर सम्मानित किया। इसके बाद अतिथि पूजा पाल को जिला संवाददाता सन्नी पठानिया ने शाल टोपी व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। निर्णायक मंडल के जज नवीन पाल जौनी को भी सम्मानित किया गया। विशेष अतिथि केडी लखपनाल  ने कहा कि बिलासपुर में डांस के लिए इस स्तर का मंच उपलब्ध होना खुशी की बात है। बच्चों के लिए डीएचडी जैसा बेहतरीन मंच प्रदान करने के लिए उन्होंने ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया गु्रप की जमकर तारीफ  की। वहीं विशेष अतिथि मनोज चंदेल ने अपने संबोधन में कहा कि बिलासपुर में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। डीएचडी के मंच पर यह बात साबित हो गई कि प्रतिभाओं को सिर्फ  मंच उपलब्ध करवाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि दिव्य हिमाचल ग्रामीण प्रतिभागियों की प्रतिभाओं व काबीलियत को ऊपर उठाने में उपयुक्त मंच दे रहा है। एनआर अस्पताल की एमडी पूजा पाल ने प्रतिभागियो का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि हिमाचल के गांवों में गजब की प्रतिभा होती है। उसे निखारने के लिए ‘दिव्य हिमाचल’ के मंच से उपयुक्त मंच कोई नहीं है। पूजा पाल ने कहा कि दिव्य हिमाचल का यह सराहनीय प्रयास है। उन्होंने कहा कि बिलासुपर क्षेत्र में प्रतिभा की कमी नहीं है, परंतु इस क्षेत्र में अवसर की कमी है। इस स्तर का मंच बिलासपुर की प्रतिभा को मिलना बड़ी बात है। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजन के लिए आगामी समय में उनका भरपूर सहयोग मिलता रहेगा। वहीं प्रतिभगियों की एक से बढक़र एक प्रस्तुतियां देखकर मुख्यातिथि हैरान रह गए। हिंदी, पंजाबी व इंग्लिश गानों पर बच्चों ने जमकर धमाल मचाई। मंच पर सीनियर से लेकर जूनियर तक सभी की परफार्मेंस काबिले तारीफ  रही। प्रतिभागियों ने काले रंग पर मोरनी, धीमे-धीमे से, नाटी सिरमौर वाली, मैनू लहंगा ले दे मरजानेआ, तेरा होने लगा हूं, साकी-साकी रे, चंडीगढ़ दी हवा आदि गानों पर जमकर डंास किया। प्रतिभागियों ने एक से बढक़र एक प्रस्तुति देकर प्रतिभागियों ने सभी का मनमोह लिया। इवेंट के एंकर सिद्धार्थ शर्मा के समारोह का समां बांधे रखा। एंकर सिद्धार्थ डीएडी-4 का रनर अप रह चुका है। उल्लेखनीय है कि प्रतियोगिता में बेहत्तर प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को दुनिया की नामी लुईस टेरेंस अकादमी मुंबई में जाने का मौका मिलेगा। सिमरन ठाकुर एवं शिया, मन्नत टेसू, तनवी शर्मा, निवेदिता मन्हास, हनी कटोच, पूजा शर्मा, वैष्णवी, प्रतिभा, इशा, देवेश्वर शर्मा, जागृति, सरिता, ओजल शर्मा, चारू शुल्क, शैलजा शर्मा, सानिया, शालू चौहान, अमृता सिंह, सान्वी गौतम, प्ररेणा ठाकुर, स्टार डांस  अकादमी, श्रृष्टि शर्मा, वर्षा चंदेल, आतिक्ष ठाकुर, शौर्या शर्मा, अंशिका, सेजल, रौनक, हर्षिता, अवियुक्ति जस्वाल, प्रतिभा सिंह एवं पलक, सक्षम एवं वंश, दिव्याम एवं आकांशा, जिज्ञक्षा डांस पायल, रोहित वर्मा, सुनीता व विकास।

स्कूल-अकादमी के प्रतिभागियों को मिली छूट

जूनियर वर्ग में 8 से 16 साल तक के प्रतिभागियों व सीनियर कैटेगरी में आयु सीमा 17 से 35 साल तक के प्रतिभागियों ने अपने डांस का हुनर दिखया। वहीं स्कूलों व अकादमियों से प्रमाण पत्र लेकर आने वाले प्रतिभागियों को एंट्री फीस में विशेष छूट भी दी गई।     

प्रतिभागियों ने चखा बिलासपुरी धाम का स्वाद

डीएचडी-7 के ऑडिशन में आए प्रतिगियों व उनके परिजनों के लिए बिलासपुरी धाम का आयोजन किया गया था। करीब दौ सो लोगों ने बिलासपुरी धाम का लुत्फ उठाया। इसके अलावा बच्चों को सुबह रिफ्रेशमेंट भी दी गई। बिलासपुरी धाम का आयोजन पूर्व प्रशासनिक अधिकारी केडी लखनपाल ने करवाया, जबिक इंडियन करियर डिफेंस अकादमी बिलासपुर के एमडी मनोज चंदेल ने प्रतिभागियों को रिफ्रेशमेंट दी।

You might also like