देवालयों से निकली भव्य शोभायात्रा

सायर संक्रांति की धूम, एक-दूसरे को जूब बांटकर मनाया उत्सव, भादों माह बीतने की खुशी में देवता संग झूमे धाउगीवासी

सैंज –सैंज घाटी में मंगलवार को सायर संक्रांति पर घाटी के तमाम देवालयों में रौनक देखने को मिल। देवभूमि रूपी रैला में सायर संक्रांति पर भगवान लक्ष्मी नारायण जी की भव्य शोभा यात्रा सरचानी ग्रा मधेउल से रेलाग्रा होकर लक्ष्मी नारायण मेला मैदान सह में पहुंची। सभी हारियानों ने सर्वप्रथम भगवान लक्ष्मी नारायण के साथ व उसके बाद आपस मे जूब बांटकर सायर संक्रांति हर्षोल्लास के साथ मनाई। इसके बाद सामूहिक कुलवी लोक नृत्य की धूम देखने को मिली। वहीं शाघड़ में शगचुल महादेव की भी भव्य शोभायात्रा देखने को मिली इसके साथ धाउगी नोंन, बनोगी, भलाहन, गोही, शेशर, बनाउंगी के देवालयों में भी रौनक देखने को मिली। भगवान लक्ष्मी नारायण के कारदार जगरनाथ ने बताया है कि सायर संक्रांति व लोहड़ी संक्रांति को जिलाभर के देवालयों में हर वर्ष धूमधाम से मनाते हैं। ये दोनों संक्रांतियां साल भर की सभी बारह संक्रांतियों से प्रमुख हैं। इनकी आदिकाल से चली आ रही यह परंपराएं हमे यंू ही संजोए रखने की आवश्यकता है यह आपसी मेल मिलाप व आपसी भाइचारे को बढ़ावा देने वाली है।  इस उपलक्ष पर भगवान लक्ष्मी नारायण के गूर तमेश्वर शर्मा, पुजारी नीलम मिश्रा, पालसरा यान सिंह नेगी,  धामी जुगत राम, मुख्य सलाहकार गंगा राम नेगी , किशन सिंह, बजंत्री प्रमुख शिव राम, टीकम राम, धनी राम, कर्ण सिंह, दुर्गा धामी, टेक सिंह, हरभजन सिंह, देव राज, रमेश धामी आदि विशेष रूप से मौजूद रहे।

You might also like