नालागढ़ में सिख समुदाय का प्रदर्शन

पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा में गात्रा व कृपाण के साथ पेपर देने से रोका था दो सिख युवकों को, मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर युवकों की परीक्षा देने की उठाई मांग

बीबीएन –पुलिस भर्ती की हुई परीक्षा में नालागढ़ उपमंडल के दो सिख युवकों को गात्रा में प्रवेश न करने पर सिख समुदाय में भारी रोष उमड़ गया है। समुदाय के लोगों का कहना है कि संविधान की धारा-25 के तहत सिख अपने साथ गात्रा व कृपाण ले जा सकते है, लेकिन आठ सितंबर को सोलन में आयोजित हुई पुलिस भर्ती की परीक्षा में दो सिख युवाओं को गात्रा में प्रवेश करने से रोका गया है। इसके विरोध में सिख समुदाय के लोगों ने नालागढ़ में रोष प्रदर्शन किया और एसडीएम नालागढ़ के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर इन दोनों युवकों की परीक्षा दोबारा संचालित करने की मांग की है। समुदाय के लोगों ने यह भी चेतावनी दी कि यदि एक सप्ताह के भीतर परीक्षा का संचालन नहीं हुआ तो उग्र प्रदर्शन होगा और वह उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने से भी गुरेज नहीं करेंगे। समुदाय के इन दो युवाओं द्वारा सिख धर्म की अनुपालना करने पर उन्हें सरोपा भेंट करके सम्मानित भी किया गया। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्य डा. दिलजीत सिंह भिंडर ने कहा कि नालागढ़ उपमंडल के गुल्लरवाला गांव निवासी दो सिख युवक आठ सितंबर को सोलन में पुलिस भर्ती की परीक्षा देने गए थे, लेकिन वहां उन्हें गात्रा पहनने के कारण परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया, जबकि संविधान की धारा-25 के तहत उच्च न्यायालय, सर्वोच्च न्यायालय, संसद भवन में जाने का पूर्ण अधिकार है और यह अधिकार उनसे कोई नहीं छीन सकता है। उन्होंने कहा कि इन युवकों को सिर्फ इसलिए परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया, क्योंकि इन सिख युवकों ने गात्रा व कृपाण धारण किए हुए थे और मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन्हें इसे उतारने के लिए कहा, जबकि सिख धर्म में गात्रा व किरपाण धारण करना अनिवार्य है, वहीं संविधान ने भी इसकी इजाजत दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मांग की है कि वह स्वयं इस मामले में हस्तक्षेप करें और पुलिस भर्ती की परीक्षा से वंचित रह गए इन दोनों युवकों के लिए परीक्षा संचालित की जाए।

इस दौरान ये लोग रहे उपस्थित

इस दौरान एसजीपीसी सदस्य व शिरोमणी अकाली दल हिमाचल के प्रदेश के अध्यक्ष दलजीत सिंह भिंडर, जिप सदस्य सरदार यशवंत सिंह, गुरमत प्रचार ट्रस्ट के सचिव महिंद्र सिंह, समाजसेवी गुरचरण सिंह चन्नी, सिख स्टूडेंट फेडरेशन के अध्यक्ष सतनाम सिंह, युवा समाजसेवी राजंेद्र झल्ला, सुरमुख सिंह, भाई घनइयां सेवा सोसायटी के अध्यक्ष चरणजीत सिंह, परमजीत सिंह गे्रवाल, हरपाल सिंह, मोहन सिंह, हरप्रीत सिंह, इंद्रजीत सिंह, अवतार सिंह, हरभजन सिंह, गगनदीप सिंह, मोहन सिंह, अमरजीत सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

You might also like