नौ नवंबर से खुलेगा करतारपुर गलियारा

* पाकिस्तान ने तय की तारीख; इमिग्रेशन के लिए बनाए जाएंगे 152 काउंटर, मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधा 

* शुरू में हर रोज 5000 श्रद्धालुओं को अनुमति फिर जा सकेंगे 10000 यात्री

इस्लामाबाद – गुरुनानक देव जी की 550वीं जयंती से पहले करतारपुर कॉरिडोर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा और लोग पाकिस्तान स्थित नानक देव जी की जन्मस्थली तक पहुंच सकेंगे। करतारपुर कॉरिडोर के प्रोजेक्ड डायरेक्टर अतीक मुजीद ने बताया कि नौ नवंबर को यह गलियारा खोल दिया जाएगा। 11 और 12 नवंबर को सिख गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि शुरू में रोजाना 5000 श्रद्धालुओं को आने की अनुमति दी जाएगी और बाद में 10,000 तक यात्री आ सकेंगे। अतीक मुजीद ने कहा कि इमिग्रेशन के लिए कुल 152 काउंटर बनाए जाएंगे। जीरो प्वॉइंट से बॉर्डर टर्मिनल की दूरी 350 मीटर होगी। उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट जैसी सुविधा लोगों को मुहैया कराई जाएगी। बता दें कि लंबी बातचीत के बाद दोनों देशों में कई मुद्दों के लेकर सहमति बन पाई है। भारत और पाकिस्तान ने श्रद्धालुओं की वीजामुक्त यात्रा पर सहमति जताई। पाकिस्तान पहले श्रद्धालुओं से सेवा शुल्क लेने और प्रोटोकॉल अधिकारियों को आने की इजाजत न देने पर अड़ा था लेकिन बाद में यह मामला सुलझा लिया गया।

You might also like