पंत को पांचवें नंबर पर क्यों नहीं उतारते

युवा विकेटकीपर पर दबाव हटाने के लिए गावस्कर की टीम प्रबंधन को सलाह

नई दिल्ली -भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि ऋषभ पंत को सीमित ओवरों के प्रारूप में नंबर पांच पर बल्लेबाजी के लिए भेजा जाना चाहिए। गावस्कर का मानना है कि इस पोजिशन पर पंत को अपना नैसर्गिक आक्रमक खेलने का अवसर मिलेगा। पिछले सप्ताह पंत को लेकर काफी बहस होती रही। नए बल्लेबाजी कोच ने यहां तक कह दिया था कि केयरलेयर और फेयरलेस क्रिकेट में कुछ अंतर होता है। राठौर की टिप्पणी के अगले दिन पंत की बल्लेबाजी फिर चर्चा में आई जब साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के दूसरे टी-20 इंटरनेशनल में पंत एक खराब शॉट खेलकर आउट हो गए। मोहाली टी-20 इंटरनेशनल में पंत को नंबर चार पर बल्लेबाजी करने भेजा गया। भारतीय टीम प्रबंधन ने वर्ल्डकप में भी पंत को नंबर चार पर ही बल्लेबाजी करने का मौका दिया था। न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टॉप ऑर्डर के असफल होने के बाद जब वह हार्दिक पांड्या के साथ एक साझेदारी तैयार कर रहे थे, तभी ऑनसाइड पर एक बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में आउट हो गए थे। गावस्कर ने एक अंग्रेजी अखबार में लिखा नंबर पांच पर बल्लेबाजी करने से पंत पर प्रेशर कम हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस नंबर पर बैटिंग कर पंत को कुछ अधिक समय मिल सकता है। उनकी आक्रमक बल्लेबाजी की जरूरत शुरू से है, न कि उन्हें पारी तैयार करने में वक्त लगाना चाहिए। गावस्कर का मानना है कि समय के साथ-साथ पंत का शॉट सिलेक्शन बेहतर होता जाएगा, लेकिन फिलहाल उन्हें पैनिक की जगह समर्थन की जरूरत है।

You might also like