पांचवीं-आठवीं का पाठ्यक्रम बदला

शिमला – पांचवीं और आठवीं को बोर्ड करने के साथ ही अब इन दोनों कक्षाओं के पाठ्यक्रम में भी शिक्षा विभाग ने बदलाव किया है। बोर्ड की गाइडलाइन के बाद विभाग ने तय किया है कि पांचवीं व आठवीं की बोर्ड परीक्षा में थ्योरी 85 अंक की होगी। इसके साथ ही 15 नंबर इंटरनल असेस्मेंट के होंगे। शिक्षा विभाग की ओर से जारी हुई अधिसूचना में यह भी साफ किया गया है कि पांचवीं व आठवीं के छात्रों की इंटरनल असेस्मेंट भी अब तभी जुड़ेगी, जब वह पास होने के लिए 28 नंबर लेंगे। यानी की 85 नंबर थ्योरी और 15 नंबर असेस्मेंट के रहेंगे, जिसके तहत पूरा पेपर सौ नंबर का रहेगा। बता दें कि शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए शिक्षा विभाग ने पांचवीं व आठवीं कक्षा के छात्रों का परीक्षा शेड्यूल दसवीं और जमा दो के छात्रों की तरह बनाया है। यानी की अब पांचवीं व आठवीं के छात्रों को भी पास होने के लिए बोर्ड के सख्त रूल का पालन करना होगा। हिमाचल प्रदेश में इस साल से पांचवीं व आठवीं के छात्र फेल होंगे। शिक्षा विभाग की ओर से जारी अधिसूचना में साफ कहा गया है कि राज्य के सरकारी व स्कूल शिक्षा बोर्ड से एफिलिएटिड प्राइवेट स्कूलों को इस सत्र में बोर्ड से फाइनल परीक्षा के प्रश्नपत्र सेट करवाने होंगे। गौर हो कि सरकार ने राइट टू एजुकेशन एक्ट में संशोधन किया है। इससे अब प्रदेश में पांचवीं और आठवीं कक्षा की परीक्षा पास किए बिना विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही विंटर क्लोजिंग स्कूलों में 31 दिसंबर व समर स्कूलों में 31 मार्च को ही इन दोनों बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट घोषित किए जाएंगे। शिक्षा विभाग की ओर से जारी अधिसूचना में बताया गया है कि 33 प्रतिशत और उससे ज्यादा अंक लेने वाले छात्रों को रिजल्ट घोषित होने के साथ ही उन्हें सर्टिफिकेट भी समय पर देने होंगे। शैक्षणिक सत्र 2019-20 से नो डिटेंशन पॉलिसी को समाप्त शिक्षा विभाग ने समाप्त कर दिया है।

You might also like