पिंजौर-कालका में 75 करोड़ का विकास

 पिंजौर – पिंजौर-कालका नगर निगम को बने हुए करीब नौ वर्ष हो गए, परंतु 2014 के बाद अब तक दोनों शहरों में  निगम क्षेत्र के अंदर करीब 75 करोड़ रुपए के विकास कार्य हो चुके हैं, जिसमें दोनो शहरों में गलिया, सड़कें, नालिया, शौचालय, श्मशानघाट, धर्मशाला आदि है। इसके अलावा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा घोषित कोष से 20 करोड़ रुपए की अलग-अलग विकास कार्यों की निविदाएं आमंत्रित करके इन कार्यों के वर्क ऑर्डर दिए जा रहे हैं यह सभी कार्य तीन से चार महीने तक पूरे करवाएं जाएंगे। यह बात कालका विधायक लतिका शर्मा ने कालका बीडीपीओ कार्यालय में कई विकास कार्यों का शिलान्यास करते हुए कही। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार दोनों शहरो में करीब चार करोड़ की लागत से सीवर लाइन बिछाने का कार्य भी प्रगति पर है और करीब 36 करोड़ की लागत से सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट व सभी कॉलोनियों  में सीवरेज की व्यवस्था के लिए सीवरलाइन का अनुमान तैयार हो गया है तथा सरकार से अनुमति के बाद ई. निविदा के माध्यम से कार्य करवाया जाएगा। आने वाले समय में दोनों शहरो की उन्नति व खुशहाली के लिए झाझरा नदी के साथ-साथ एक  सर्कुलर रोड शॉपिंग सेंटर, पार्किंग, अग्निशमन केंद्र व पार्क आदि का निर्माण की भी योजना है। इसके अलावा जल्द ही छट पूजा घाट का निर्माण भी करवाया जाएगा। मीट मार्किट की समस्या के समाधान के लिए करीब 20 करोड़ की लागत से दोनों शहरों में स्लाटर हाउस बनाए जाएंगे। केंद्र सरकार की अमरूत परियोजना के तहत करीब 33.62 करोड़ की लागत से दोनों शीरो में जल वितरण एवं आपूर्ति का निर्माण शुरू कर दिया गया है। इस योजना का लाभ गांव बिटना, स्यूड़ी, घाटीवाला, रामसर, कागुंवाला, टिपरा, धर्मपुर, भैरो की सैर, रेलवे विहार आदि क्षेत्र को होगा, इसमें करीब 18 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन बिछाई जा रही है।

You might also like