पीओके जल्द होगा भारत का हिस्सा

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुश्मन देश पाकिस्तान को दिया स्पष्ट जवाब

नई दिल्ली – विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पीओके को भारतीय हिस्सा बताते हुए मंगलवार को एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) जल्द ही भारत का भौगोलिक हिस्सा बनकर रहेगा। जयशंकर ने कहा कि जब तक पड़ोसी देश आतंकवाद को बढ़ावा देना नहीं रोकेगा, तब तक उससे बातचीत नहीं होगी। मोदी 2.0 के 100 दिन पूरे होने पर विदेश मंत्रालय की उपब्धियां गिना रहे जयशंकर ने पाकिस्तान को एक यूनिक चैलेंज बताया।मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में विदेश मंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने के बाद अपने पहले संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए जयशंकर ने कहा कि इस अवधि में सरकार की महत्त्वपूर्ण उपलब्धियां राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति के लक्ष्यों के बीच मजबूत संबंध स्थापित करने की हैं। विदेश मंत्री ने कहा कि भारत की आवाज अब वैश्विक मंच पर कहीं अधिक सुनी जा रही, चाहे वह जी-20 हो या जलवायु सम्मेलन हो।

आतंकवाद रोके बिना पाक से बात नहीं

जयशंकर ने कहा कि पाकिस्तान के साथ हमारा एक ही मुद्दा है। पाकिस्तान आतंकवादियों को समर्थन दे रहा है और अपनी इस नीति में बदलाव नहीं कर रहा है। पाकिस्तान खुलेआम अपने देश में पड़ोसी देशों के खिलाफ आतंकवादियों को बढ़ावा देता है। जब तक वह आतंक को खत्म नहीं करता, तब तक उससे कोई बात नहीं होगी।

आर्टिकल 370 भारत का आतंरिक मुद्दा

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने को आतंरिक मुद्दा बताते हुए जयशंकर ने कहा कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) भारत का हिस्सा है और हमें उम्मीद है कि एक दिन उस पर हमारा अधिकार होगा।

जाधव को भारत लाने की कोशिश जारी

पाकिस्तान में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के सवाल पर जयशंकर ने कहा कि हमारा उद्देश्य जाधव का हाल जानना था। जाधव से मिलने का मकसद उनके अधिकार दिलाना था। हम एक निर्दोष शख्स को उसके देश वापस लाने की कोशिश कर रहे हैं।

You might also like