बीबीएन की सड़कों पर घरों का कूड़ा

लोगों से नजरें बचा रात को लगा रहे ठिकाने, स्वच्छता अभियान को दिखा रहे ठेंगा

बीबीएन –औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में मकानों का मलबा व कूड़ा-कर्कट बेरोकटोक सड़कों के किनारों पर ठिकाने लगाया जा रहा है। पहले यह मलबा लोगों द्वारा गाडि़यों भर कर नदियों व नालों में फेंका जाता था लेकिन अब इस मलबे को सरेआम कहीं भी खुली व खाली जगह देखकर फेंका जा रहा है। आलम यह है कि बीबीएन में सड़कों के किनारे इस मलबे के ढेर कहीं भी देखे जा सकते हैं। अकसर लोग मलबा फेंकने के काम को रात को ही अनजाम देते हैं क्योंकि उस समय इनको देखने वाला कोई नहीं होता है। आम तौर पर यह देखा जा रहा है कि फैक्ट्ररी वालों से ठेकेदार इस मलबे को ठिकाने लगाने की जि मेवारी ले लेते हैं और उद्योगों से मोटे पैसे ऐंठते है। फिर यह ठेकेदार बेखौफ होकर इस मलबे को मनमर्जी से कहीं भी फैंक देते हैं। यह मलबा अधिकतर पुराने भवनों की मरम्मत या पुराने भवनों को तोड़ने के बाद निकलता है, जिसको ठेकेदार के माध्यम से ठिकानें लगाया जाता है। ज्यादातर यह दृश्य बीबीएन में जहां पर बहुत अधिक सं या में उद्योग है वहीं पर देखने को मिलता है। इसके लिए प्रशासन का कोई ाी विभाग जिम्मेवारी लेने को तैयार नहीं है। स्वच्छता अभियान के दावों के बीच बीबीएन क्षेत्र में सरकार का यह स्वच्छता अभियान दम तोड़ चुका है। क्षेत्र में वैसे तो स्वच्छता को लेकर विभाग व औद्योगिक संगठन मात्र दिखावे के लिए बड़ी-बड़ी रैलियां व सड़कों पर उतर कर झाडू लगाते हैं लेकिन हकीकत में कोई भी विभाग या संगठन सफाई के गंभीर नहीं है, जिसके चलते बीबीएन में स्वच्छता अभियान पूरी तरह से दम तोड़ चुका है। इससे जहां साफ -सफाई व स्वच्छता के दावे खोखले साबित हो रहे हैं वहीं बीबीएन क्षेत्र की आवोहवा भी खराब हो रही है। यही नहीं बीबीएन में जहां औद्योगिक प्रदूषण ने लोगों का जीना हराम कर रखा है वहीं इस बेखौफ माफिया के कारण सड़के तंग हो रही है और सड़क दुर्घटनाओं में भी दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। इस मलबे के कारण सड़कों के किनारे बनाई गई नालियां भी बंद हो जाती है जिससे बारिश होने पर सारा पानी सड़कों पर बहने लगता है और सडकों के खराब होने का मुख्य कारण भी यही है। स्थानीय लोगों में निर्मल सिंह, गुरमीत सिंह, इश्वरी प्रसाद, हैप्पी शर्मा, राजेश कुमार, माधोराम मेहता, सिकंदर, जोगिंद्र, अनवर, कुलदीप, विपिन, कृष्ण व अन्य लोगों ने इस बेखौफ माफिया पर लगाम लगाने की मांग की है। बीबीएनडीए के डिप्टी सीईओ सुधीर शर्मा ने कहा कि उनके संज्ञान में यह मामला नहीं है। उन्होंने कहा कि जहां से शिकायत आती है वहां तुरंत कार्रवाई अमल में लाई जाती है।

 

You might also like