भारत ने आसमान में बढ़ाई ताकत

एयरफोर्स और डीआरडीओ ने किया अस्त्र मिसाइल का तीसरा सफल परीक्षण, मारक क्षमता 90 किलोमीटर

नई दिल्ली – वायुसेना और डीआरडीओ ने स्वदेश निर्मित हवा से हवा में मार करने वाले ‘अस्त्र’ मिसाइल का बुधवार को तीसरी बार फायर किया, जो सफल रहा। मिसाइल को ओडिशा के नजदीक फायर किया गया, जिसकी मारक क्षमता 90 किलोमीटर है। खबर के मुताबिक डीआरडीओ सूत्रों ने बताया कि बुधवार को हवा से हवा में मार करने वाले तीसरे अस्त्र मिसाइल को एयर फोर्स और डीआरडीओ द्वारा सफलतापूर्वक फायर किया गया। मिसाइल ने ओडिशा के नजदीक अधिकतम 90 किलोमीटर के रेंज से लाइव एरियल टारगेट को सफलतापूर्वक निशाना बनाया। इससे पहले मंगलवार को सुखोई 30 एमकेआई विमान के जरिए अस्त्र का सफल प्रयोगिक परीक्षण किया गया था। अस्त्र मिसाइल को डीआरडीओ ने तैयार किया है। आधिकारिक बयान में कहा गया था कि इस अत्याधुनिक मिसाइल को भारतीय वायुसेना ने प्रायोगिक परीक्षण के तहत अपने सुखोई 30 एमकेआई विमान से दागा। बयान में कहा गया था कि विभिन्न रडारों, इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम और सेंसरों के जरिए मिसाइल पर नजर रखी गई, जिन्होंने इसके लक्ष्य भेद देने की पुष्टि की। अत्याधुनिक मिसाइल की मारक क्षमता 70 किलोमीटर से अधिक है जो 5,555 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से लक्ष्य की ओर उड़ान भर सकती है। बता दें कि वायुसेना ने मंगलवार को कहा था कि हवा से हवा में मार करने वाले अस्त्र मिसाइल का परीक्षण अभी सुखोई 30एमकेआई के जरिए किया गया है। आगे इसे मिराज-2000, मिग-29 और एलसीए तेजस विमानों के साथ इंटिग्रेट किया जाएगा।

You might also like