महाकाल में उमड़ा आस्था का महामेला, अंतिम शनिवार को सवा लाख से ज्यादा भक्तों ने नवाया शीश।

You might also like