मुख्यमंत्री ने नवाजे हिमाचल के पावरमैन

शिमला -दिव्य हिमाचल द्वारा आयोजित समारोह में जहां कई रत्न सम्मानित हुए वहीं इनमें एक प्रमुख चेहरा इं.सुनील ग्रोवर का है जिन्हें प्रदेश में पावर मैन के नाम से जाना जाता है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने उन्हें इंजीनियर डे के मौके पर सम्मानित किया। इस दौरान इस समारोह में कई बिजली अभियंता भी मौजूद रहे जिनके बीच ई.सुनील ग्रोवर सम्मानित हुए। हिमाचल के बिजली क्षेत्र को ऊंचाईयों तक पहुंचाने में सुनील ग्रोवर की अहम भूमिका है और प्रदेश में उन्हंे इसीलिए पावर मैन के नाम से भी जाना जाता है।  यहां पर स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर के बाद   हिमाचल का अपना एरिया लोड डिस्पैच सेंटर स्थापित करवाने में उनकी अहम भूमिका रही है और इस केन्द्र के वह प्रबंध निदेशक भी हैं। सरकार ने इस सेंटर को स्थापित करने के साथ उन्हें इसकी अहम जिम्मेदारी सौंपी। इसके अलावा कई दूसरी उपलब्धियां ई.ग्रोवर के नाम दर्ज हैं। यहां पर इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर की स्थापना में उनका अहम रोल रहा है जिसके स्किल डवलपमेंट सेंटर के भी वह डायरेक्टर हैं। दिव्य हिमाचल मीडिया गु्रप ने बिजली क्षेत्र में उनकी बेहतरीन उपलब्धियों को माना और उन्हंे सम्मानित किया गया। 22 अगस्त 1960 को जन्मे इंजीनियर सुनील ग्रोेवर बिजली क्षेत्र की अथाह सेवा करने के साथ समाज सेवा में भी उतना ही महत्वपूर्ण किरदार निभाते हैं। उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि थापर यूनिवर्सिटी से और मास्टर ईन इंजीनियरिंग की डिग्री इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी रूड़की से प्राप्त की है। हिमाचल प्रदेश में ऑनलाईन प्रबंधन नियंत्रण एवं विद्युत के विनियमन के लिए वह पूरी तरह से उत्तरदायी हैं। ईं. ग्रोवर एक स्थापित पावर सिस्टम ऑपरेशन इंजीनियर हैं, जोकि वर्ष 1983 से राज्य विद्युत बोर्ड से जुड़े हुए हैं। मुख्य अभियंता सिस्टम ऑपरेशन रहते हुए 49 नंबर पीपीए, जल विद्युत, सौर ऊर्जा और कचरे से निर्मित बिजली के लिए हस्ताक्षित भी किए गए। हिमाचल में ऊर्जा क्षेत्र के दोहन को लेकर उनकी अध्ययन रिपोर्ट को सरकार भी फॉलो करती है वहीं निजी क्षेत्र में भी वह अच्छी पैठ रखते हैं।

 

You might also like