मुगला में सद्गुरु की महिमा

महात्मा कैलाश ने बहाई ज्ञान गंगा, परमात्मा को मानने पर दिया बल

चंबा- निरंकारी मंडल के साप्ताहिक सत्संग में रविवार को निरंकारी महात्मा कैलाश ने मिशन का संदेश देकर श्रद्धालुओं को भाव विभोर किया। महात्मा ने प्रवचनों की अमृतवर्षा करते हुए कहा कि न केवल परमात्मा को जानना, बल्कि परमात्मा की मानना भी जरूरी है। परमात्मा की मानने में तभी आनंद है जब हम परमात्मा को जान लेते हैं। इसीलिए कहा गया है कि पहले जानो, फिर मानो। महात्मा ने कहा कि परमात्मा कण-कण में व्याप्त है। इसका बोध पूर्ण गुरू द्वारा ही संभव है। मगर परमात्मा के बोध का सही आनंद तभी आता है जब हम सद्गुरू के बताए रास्ते पर चल पाएं।  उन्होंने कहा कि सद्गुरू का यही संदेश है कि गृहस्थ जीवन में रह कर ही इनसानियत की सेवा करें। इससे पूर्व अन्य अनुयायियों ने विचारों और भजनों के माध्यम से निरंकारी मिशन का प्रचार किया। साप्ताहिक सत्संग का समापन प्रसाद वितरण के साथ हुआ।

You might also like