मोबाइल टायलट रखने को नहीं मिला सही स्थान

भरवाईं –श्रद्धालुओं के पैसे से हैं जनाब, मंदिर न्यास को कोई फर्क नही पड़ता। यह हम नही कह रहे सड़क के किनारे खड़ी इन मोबाइल टायलट को देखने वाले हर शख्स का यहीं कहना है। अपर लोहारा किन्नू के पास मुख्य सड़क से कुछ दूरी पर झाडि़यों में मंदिर न्यास द्वारा सावन मेला में खरीदी गई मोबाइल टायलट खड़ी हैं। जिस पर मंदिर प्रशासन ने लाखों रुपए खर्च किए, ताकि मेला के दौरान श्रद्धालुओं को टायलट की सुविधा मिल सके। परंतु लाखों रुपए खर्च ने के बाद अब मंदिर प्रशासन भूल गया है। सावन मेला संपन्न हुए एक महीने से ऊपर हो गया, परंतु अभी भी मोबाइल टायलट को प्रशासन रखरखाव के लिए उचित स्थान पर रखने में असमर्थ हैं। जिस का जीता जागता उदाहरण अपर लोहारा किन्नू के पास घास में खड़ी मोबाइल टायलट हैं, जो रख रखाव न होने के कारण कुछ समय मे कवाड़ बन जाएगी। मंदिर प्रशासन का इस ओर कोई भी ध्यान नही। जबकि इस महीने 18 तारीख को भरवाई में एक मीटिंग के दौरान किसी व्यक्ति द्वारा डीसी ऊना को पूछा गया था कि जो मोबाइल टायलट उचित स्थान पर नही रखी गई है रखवा दें, ताकि खराब न हो। जिस पर डीसी ऊना ने कहा था कि सभी मोबाइल टायलट को उचित स्थान पर रखवा दिया गया हैं, परंतु आज भी कुछ मोबाइल टायलट उन स्थानों पर खड़ी है, जहां कबाड़ बनने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।  मंदिर न्यास ने भरवाई में कूड़ा संयंत्र लगाया था। जिस पर मंदिर न्यास ने लाखों खर्चे, काफी समय से बंद है, मंदिर मुख्य मार्ग व शंभु बैरियल पर बूम बैरियल लगवा कर मंदिर न्यास ने लाखों रुपए खर्च किए। जिस का इस्तेमाल भी नही हो रहा।  ऐसी योजनाओं में मंदिर न्यास का पैसा पानी की तरह वहा रहे हैं। श्रद्धालुओं के पैसे का दुरुप्रयोग नही तो ओर क्या है? मंदिर न्यास को इस और भी ध्यान देना चाहिए।

You might also like