राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय बोले, जीएसटी कामयाब

चायल –राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि भारत ने पिछले तीन-चार वर्षों में कई बदलाव देखे हैं और पूरी दुनिया ने इसे बहुत सकारात्मक रूप से लिया है। उन्होंने कहा कि यह परिवर्तन देश और उसके नागरिकों के हित में भी महत्त्वपूर्ण है, लेकिन उन्हें लागू करने की आवश्यकता है, जो कि चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) के संस्थानों द्वारा किया जा रहा है। राज्यपाल ने यह बात गुरुवार को सोलन जिला के चायल में आईसीएआई की परिषद की बैठक के अवसर पर कही। राज्यपाल ने कहा कि आईसीएआई चार्टर्ड अकाउंटेंट एक्ट, 1949 के तहत एक संवैधानिक संस्था है, जिसे भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट के व्यवसाय को चलाने के लिए गठित किया गया है। उन्होंने कहा कि यह भारतीय अर्थव्यवस्था की जनहित में कार्य करने वाली दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी लेखा संस्था है। उन्होंने कहा कि अस्तित्व में आने के 70 वर्षों से ज्यादा समय के बाद आईसीएआई ने न केवल देश में बल्कि विश्व स्तर पर भी उच्चतम मानकों, सैद्धांतिक क्षेत्र तथा शिक्षा मानकों को बनाए रखने में अग्रणी लेखा संस्था के रूप में अपनी पहचान बनाई है। राज्यपाल ने कहा कि पूरे देश में जीएसटी की सफलता आईसीएआई के सक्रिय योगदान और सहयोग के बिना संभव नहीं थी। उन्होंने कहा कि आईसीएआई ने देश में 3000 से अधिक सम्मेलन आयोजित कर जीएसटी के प्रति लोगों को जागरूक किया। उन्होंने कहा कि बजट से प्राप्त पूर्व आप से मिलने वाले सुझाव देश की अर्थव्यवस्था का खाका तैयार करने में मददगार साबित होंगे। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान में संस्थागत श्रेणियों में केवल मात्र आईसीएआई सहयोगी बना है। उन्होंने कहा कि आईसीएआई की सफलता व्यावसायिक अंग के रूप में हमारे देश के लिए गर्व की बात है। राज्यपाल ने कहा कि मुझे विश्वास है कि राष्ट्र निर्माण के दायित्व में चार्टर्ड एकाउंटेंट अपनी भूमिका को भलीभांति समझते हैं उन्होंने कहा कि आपके प्रतिष्ठित व्यवसाय में अनुशासन, परिश्रम और समर्पण है, जिसके कारण इसकी विशेष पहचान बनी है। उन्होंने कहा कि आप भारतीय अर्थव्यवस्था के वित्तीय लेन-देन को करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि प्रगतिशील मानसिकता दूसरे व्यवसायों के लिए एक मॉडल प्रदान करती है।    आईसीएआई के अध्यक्ष प्रफिला प्रेमसुख छांज्ड ने राज्यपाल का स्वागत कर सम्मानित किया और संस्था की गतिविधियों से अवगत करवाया। आईसीएआई के उपाध्यक्ष अतुल कुमार गुप्ता ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। उपायुक्त सोलन केसी चमन, पुलिस अधीक्षक मधुसूदन, कार्यकारी सचिव, आईसीएआई परिषद के सदस्य राकेश सहजल और प्रबंधक समिति सदस्य शाखा चंडीगढ़ भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

You might also like