लता मंगेशकर को डॉटर ऑफ  द नेशन अवार्ड

भारतीय फिल्म संगीत में सात दशक के अभूतपूर्व योगदान के लिए स्वर कोकिला लता मंगेशकर को ‘डॉटर ऑफ  द नेशन’ का खिताब दिया जाएगा। केंद्र सरकार 28 सितंबर, को 90वें जन्मदिन पर उन्हें यह सम्मान देगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस खास मौके के लिए गीतकार और कवि प्रसून जोशी ने खास गीत लिखा है। सूत्रों ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लता मंगेशकर के बड़े प्रशंसक हैं। वे भारत की सभी आवाजों का प्रतिनिधित्व करती हैं। उन्हें सम्मानित करना देश की बेटी को सम्मान देना है। उन्हें 90वें जन्मदिन पर खिताब देने का फैसला लिया गया है। मध्य प्रदेश के इंदौर में जन्मी लता मंगेशकर ने गाने की शुरुआत 40 के दशक में कर दी थी। तब वह महज 13 साल की थीं। उन्होंने पहला गाना मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ 1942 के लिए रिकार्ड किया था, जिसे फाइनल कट से पहले हटा दिया गया था। 1943 में आई मराठी फिल्म ‘गजाभाऊ’ में उन्होंने हिंदी सॉन्ग ‘माता एक सपूत की दुनिया बदल दे’ को आवाज दी। इसे उनका पहला सॉन्ग माना जाता है। तब से लगातार गाने गा रही हैं। लताजी को गायकी की दुनिया में अहम योगदान के लिए अब तक तीन नेशनल अवॉर्ड फिल्म ‘परिचय’ के लिए 1972 में, कोरा कागज’ के लिए 1974 में और ‘लेकिन’ के लिए 1990 में, मिल चुके हैं। भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण 1969,  दादा साहब फाल्के 1989, पद्म विभूषण 1999 और भारत रत्न 2001 से भी सम्मानित किया था।

You might also like