सड़क-पुल के लिए संघर्ष करेगी समिति

नंदपुर-जलरियां-गुलेर सड़क के काम में देरी और माहल खड्ड पर पुल न होने पर लोगों दी आंदोलन की चेतावनी

नगरोटा सूरियां-देहरा विधानसभा क्षेत्र व विकास खंड नगरोटा सूरियां की पंचायत नंदपुर भटोली व गुलेर को जोड़ने वाली नंदपुर-जलरियां-गुलेर सड़क पर पुल निर्माण में हो रही देरी पर ग्रामीणों ने सरकार व विभाग के प्रति कड़ा रोष प्रकट किया है। ग्रामीणों ने नंदपुर भटोली में शनिवार को बैठक कर संघर्ष समिति का गठन किया और फैसला लिया कि चुनाव आचार संहिता समाप्त होते ही यदि सड़क व पुल का निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया तो संघर्ष का विगुल बजा दिया जाएगा। नंदपुर-जलरियां-गुलेर सड़क के निर्माण का शिलान्यास 2012 में उस समय के सांसद व वर्तमान में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने किया था। परंतु सात वर्ष बीत जाने के बाद भी यह सड़क अपने असली रूप के लिए तरस रही है। हालांकि यहां से अनुराग ठाकुर लगातार चौथी बार सांसद बने हैं। लेकिन दो किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण करवाने में पूरी तरह असफल रहे हैं। वहीं सड़क पर माहल खड्ड  नंदनाला के ऊपर पुल नहीं होने के कारण बरसात में यह सड़क करीब छह महीने बंद रहती है। जिससे जनता को उपतहसील हरिपुर में काम करवाने के लिए पांच किलोमीटर की जगह पच्चीस किलोमीटर घूमकर वाया नगरोटा सूरियां होकर जाना पड़ता है। अब तो हालात ये हैं कि विभाग इस सड़क के निर्माण कार्य की शिलान्यास पट्टिका को भी उखाड़कर ले गया है। जिससे अब जनता अपने आपको ठगा सा महसूस कर रही। दो किलोमीटर लंबी इस सड़क पर दो पुल प्रस्तावित हैं। जिनमें से दुनिया नाला पर बनने वाले पुल का बजट स्वीकार हो गया है। जबकि नंदनाला पर बनने वाले मुख्य पुल की स्थिति यह है कि यह पुल विभाग की डीपीआर  से आगे नहीं बढ़ पाया है। इसके लिए हाल ही में नंदपुर जन जागृति मंच का एक प्रतिनिधि मंडल शिमला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से भी मिला है और मुख्यमंत्री से भी मात्र आश्वासन ही मिला है।

You might also like