सरकाघाट कालेज में पर्यटन दिवस की धूम

सरकाघाट   – राजकीय महाविद्यालय सरकाघाट में विश्व पर्यटन दिवस धूमधाम से मनाया गया। समारोह के मुख्यातिथि कार्यवाहक प्राचार्य डा. अनिल शर्मा थे। उन्होंने पर्यटन दिवस पर प्रकाश डाला और बताया कि किस प्रकार से सरकाघाट के आसपास कितने ही प्राचीन पर्यटन स्थल मौजूद हैं। सरकार यदि उन स्थलों को विकसित करे तो पर्यटन की असीम संभावनाएं हो सकती हैं। उन्होंने कमलाह किले का उल्लेख करते हुए कहा कि हमें इस तरह की ऐतिहासिक धरोहरों को संरक्षित करना चाहिए और स्थानीय  पर्यटन को बढ़ावा देना चाहिए। इस  अवसर पर स्कूल और महाविद्यालय स्तर पर भाषण प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, निबंध लेखन, नारा लेखन, पर्यटन विषयक पावर प्वाइंट प्रस्तुति आदि विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिनमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अमरोह, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पोंटा, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय  नबाही, एसपीएस इंटरनेशनल स्कूल तताहर और राजकीय महाविद्यालय घुमारवीं, बिलासपुर कालेज के विद्यार्थियों ने भाग लिया। भाषण प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार अमन कुमार गौतम, एसपीएस इंटरनेशनल तताहर, द्वितीय अमन गुप्ता, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नबाही, तृतीय स्थान पर विवेक ठाकुर व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अमरोह रहे।  निबंध लेखन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर सचिन कुमार पीजीडीसीए राजकीय महाविद्यालय सरकाघाट, द्वितीय स्थान पर कुमारी नेहा बीए प्रथम, राजकीय महाविद्यालय सरकाघाट और नितिका शर्मा, प्रथम वर्ष राजकीय महाविद्यालय सरकाघाट रहीं। नारा लेखन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर रजत कुमार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला अमरोह, द्वितीय स्थान पर कार्तिक, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला नबाही एवं तृतीय स्थान पर साहिल भारद्वाज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पौंटा रहे। पीपीटी प्रस्तुति में कुमारी रिद्धि राजकीय महाविद्यालय घुमारवीं बिलासपुर, प्रथम रहीं, कुमारी शिवानी राजकीय महाविद्यालय सरकाघाट द्वितीय, कुमारी रश्मि ठाकुर, बीसीए, राजकीय महाविद्यालय सरकाघाट तृतीय स्थान पर रहीं। कार्यक्रम के अंत में  सभी विजेताओं को प्राचार्य डा. शर्मा ने पुरस्कृत कर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन पर्यटन विभाग के विभागाध्यक्ष डा. अरुण शर्मा ने किया और कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सबका धन्यवाद किया। इस मौके पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक, कर्मचारी और बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित रहे।

You might also like