सुनो सरकार! सीएचसी भरमौर में रैबीज इंजेक्शन की दरकार

राख –नागरिक स्वास्थ्य कंेद्र भरमौर में रैबीज के इंजेक्शन ने होने से इसके संबंधित क्षेत्र मंे आने वाली करीब 20 हजार अबादी को परेशानियांे का सामना करना पड़ रहा है। जनजातीय क्षेत्र मंे बढ़ रहे भालुओं के हमले के अलावा कुत्तों के काटने पर भी टीका लगवाने के लिए क्षेत्र में बसने वाले लोगांे को न चाहते हुए भी 65 कि लोमीटर दूर जिला मुख्यालय का रुख करना पड़ रहा है। स्वास्थ्य केंद्र मंें रैबीज के इंजेक्शन न होने पर लोग सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग की सुस्त कार्यप्रणाली पर कई तरह के सवाल खड़े कर रहे हैं। उधर, जनजातीय क्षेत्र में इन दिनों भालुओं का भी प्रकोप बढ़ने लगा है। हाल में क्षेत्र में भलुओं के हमले के दो मामले सामने आए हैं, जिन्हें मेडिकल कालेज चंबा लाया गया, जहां पर उनका उपचार चल रहा है। दो दिन पहले मैहला क्षेत्र मंे मक्की की फसल की पहरेदारी कर रहे व्यक्ति पर रीछ ने हमला कर दिया, व्यक्ति बुरी तरह से घायल हो गया। वहीं, दूसरा मामला होली क्षेत्र का है जहां पर भालू ने महिला पर हमला कर उसे लहूलुहान कर दिया। ऐसे में स्वास्थ्य केंद्र में रैबीज इंजेक्शन न होना खुद ही सवाल खड़े कर रहा है। उधर, बीएमओ भरमौर डा. अंकित का कहना है कि जितना स्टॉक उनके पास था वह खत्म कर दिया है, जिसे लेकर जिला स्वास्थ्य अधिकारी को अवगत करवा दिया, लेकिन चंबा में भी अभी रैबीज इंजेक्शन का प्रोपर स्टॉक न होने से दिक्कते पेश आ रही हंै। वहीं, मुख्य चिकित्सा अधिकारी चंबा डा. विनोद का कहना है कि चंबा मंे रैबीज इंजेक्शन का स्टॉक काफी है, स्टॉक खत्म होने पर स्वास्थ्य कंेद्र जब चाहे इसकी खेप ले सकते हैं।

You might also like