सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में डाक्टरों की नहीं होगी कमी

कथेड़ में बनने वाले नए हास्पिटल में इंडियन पब्लिक हैल्थ स्टेंडर्ड के अनुसार 50 चिकित्सक देंगे सेवाएं

सोलन –कथेड़ में बनने वाले सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में लोगों को चिकित्सकों की कमी नहीं झेलनी पड़ेगी। इंडियन पब्लिक हैल्थ स्टेंडर्ड के अनुसार दिए गए दिशा निर्देशों में 300 बेड अस्पताल में 50 चिकित्सक अपनी सेवाएं देंगे। इसी के साथ अस्पताल में 201 स्टाफ नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ तैनात होगा जबकि 21 एडमिनिस्ट्रेशन स्टाफ की तैनाती की जाएगी। इसके लिए गठित कमेटी द्वारा ब्यौरा तैयार कर सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जा रहा है। प्रस्तावित अस्पताल में कोई कसर न रह जाए इसके लिए गठित कमेटी द्वारा सभी प्रकार के प्रयास किए जा रहे है और इंडियन पेब्लिक हेल्थ स्टेंडर्ड के दिशानुसार ही कार्य किया जा रहा है। वर्तमान की बात की जाए तो अस्पताल की डिमार्केशन करवाने के लिए अस्पताल प्रशासन ने राजस्व विभाग के साथ पत्राचार किया हुआ है और इस हफ्ते में डिमार्केशन का कार्य पूर्ण करने का आग्रह किया है ताकि कमेटी आगामी कार्य को पूरा कर सके। इसके पश्चात फेंसिंग व अन्य काम शुरू किए जाएंगे। सुपर स्पेशयलिटी अस्पताल के लिए अस्पताल प्रशासन निशानदेही के बाद मिट्टी की जांच करवाएगा। अस्पताल के निर्माण कार्य से पहले प्रशासन द्वारा कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। मिट्टी जांच रिपोर्ट आने पर ही अस्पताल का नक्शा तैयार किया जाएगा। गौरतलब हो कि कथेड़ बाइपास पर मल्टी स्पेशयलिटी अस्पताल बनाने को लेकर लगभग सत्तर बीघा जमीन स्वास्थ्य विभाग के नाम की है। यहां पर 200 बेड की सुविधा होगी तो साथ में 50 बेड एमसीएच व 50 बेड ट्रामा सेंटर की सुविधा भी लोगों को मिल पाएगी।

इस स्टाफ की होगी तैनाती

इंडियन पब्लिक हेल्थ स्टैंडर्ड के अनुसार मेडिसिन के तीन डाक्टर, शल्य चिकित्सा के तीन डाक्टर, स्त्री रोग विशेषज्ञ चार, शिशु रोग विशेषज्ञ चार, एनेस्थीसिया विशेषज्ञ तीन, नेत्र रोग विशेषज्ञ दो, हड्डी रोग विशेषज्ञ दो, रेडियोलॉजिस्ट दो, पैथोलॉजिस्ट तीन, दो ईएनटी, दंत चिकित्सक दो, एक स्किन रोग विशेषज्ञ, पंद्रह एमओ, एक साइकेट्रिस्ट, एक मैक्रोबियोलॉयजिस्ट, फोरेंसिक स्टाफ एक व एक आयुष डॉक्टर तैनात होंगे। साथ ही 135 स्टाफ नर्स व 66 पैरामेडिकल स्टाफ तेनात होगा।

You might also like