सेवा आश्रय संगठन द्रंग ने मनाया स्थापना दिवस

पद्धर-जिला स्तरीय सामाजिक संगठन सेवा आश्रय संगठन द्रंग ने अपना स्थापना दिवस रविवार को वन विश्राम गृह द्रंग के प्रांगण में धूमधाम से मनाया। स्थापना दिवस के मौके पर मुख्यातिथि के तौर पर सेवानिवृत्त शिक्षा निदेशक व समाजसेवी भूप सिंह ठाकुर ने शिरकत की। सेवा आश्रय संगठन के अध्यक्ष लोकेश ठाकुर उर्फ लक्की ने मुख्यातिथि का स्वागत किया। भूप सिंह ने कहा कि 19 सितंबर, 2016 को सेवा आश्रय संगठन की नींव रखी थी, जो आज अपनी तीसरी वर्षगांठ मना रहा है। उन्होंने कहा कि इस संगठन की नींव पूर्व अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष हेम सिंह ठाकुर के हाथों द्वारा रखी गई थी। उन्होंने कहा कि सेवा आश्रय संगठन ने नशा निवारण अभियान चलाया है, जो बधाई के पात्र हैं, क्योंकि आज के समय मे क्षेत्र में नशा अपना पांव पसार चुका है। कुफरी पंचायत के प्रधान ओम प्रकाश ठाकुर ने कहा कि आज के समय मे नशा हमारे समाज में पूरी तरह से फैल चुका है, जिसको रोकने के लिए हमे इस तरह के संगठनों ने माध्यम से लोगों को जागरूक कर सकते हैं। पुलिस विभाग से आए हुए अजय कुमार ने कहा कि आज के समय मे चिट्टे ने अपने पांव पूरी तरह से प्रसार दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसको रोकने के लिए हम लोगों को पहल करनी होगी, क्योंकि चिट्टे से आदमी की समय से पहले मृत्यु हो रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थिति में लोग 112 पर भी कॉल कर जानकारी दे सकते हैं, जिसकी जानकारी गुप्त रखी जाएगी। रिटायर्ड प्रधानाचार्य बेसर सिंह, ऋतु सुमन, सुंदरनगर से हिंदी प्रवक्ता मंजुला वर्मा और युवा एकता द्रंग के पूर्व अध्यक्ष सुभम शर्मा ने भी अपने विचार रखे। संगठन के महासचिव कुलदीप सिंह ने बताया कि सेवा आश्रय संगठन एक गैर राजनीतिक संगठन है, जो हर साल 14 फरवरी को रक्तदान शिविर का आयोजन लोगो की भलाई के लिए करता आया है। उन्होंने बताया कि कोटरोपी त्रासदी के समय प्रभावित हुए लोगों को भी संगठन के लोगों ने 30 क्विंटल अनाज वितरित किया है। इस अवसर पर महिला मंडल पाली, कुलांद्र, पिपली, मलोग, डवारडू, मसेरन, टोकरी, रिटायर्ड प्रधानाचार्य बेसर सिंह ठाकुर, साहल के प्रधानाचार्य मनोज ठाकुर, प्रधान कुफरी ओम प्रकाश, सिलग राजेंद्र ठाकुर, जेई नरेंद्र ठाकुर, हेम सिंह, युवा,  मंडल के पूर्व अध्यक्ष शुभम शर्मा, पुलिस प्रसासन से अजय कुमार, राम प्रकाश मढोतरा, बीडीसी टांडू नागेश्वरी, बीडीसी पाली सरोज कुमारी, शहीद हीरा सिंह नारला के मालिक चमन लाल, गोपाल सिंह,  ललित शर्मा हेम सिंह, मुरारी लाल, कर्म सिंह, जितेंद्र ठाकुर, जोगिंद्र गुलेरिया सहित कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

You might also like