स्कूल-कालेजों में लगेंगे बॉयो-डाइजेस्टर

संस्थानों में खुले में खाना-कूड़ा फेंकने पर होगी कार्रवाई

शिमला – स्कूल-कालेज व अन्य बड़े शिक्षण संस्थानों में अब वेस्ट खाना फेंकने पर कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। एनजीटी के आदेशों के तहत प्रदेश में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को लेकर गठित कमेटी ने शिक्षा विभाग को स्कूल, कालेजों व विश्वविद्यालयों में बायो-डाइजेस्टर लगाने के सख्त आदेश जारी किए हैं। जिन शिक्षण संस्थानों में होस्टल सुविधा है, वहां कमेटी ने ये बॉयो-डाइजेस्टर लगाना अनिवार्य किया है, ताकि इसमें किचन से निकलने वाले वेस्ट को ट्रीट किया जा सके । हाल ही में पूर्व मुख्य सचिव राजवंत संधु की अध्यक्षता में यह बैठक हुई। इस बैठक में शिक्षा विभाग के  अधिकारियों ने भी भाग लिया। बैठक में शिक्षा विभाग को उक्त निर्देश जारी किए गए हैं। इस दौरान स्कूलों को मिड-डे मील का वेस्ट भी इस बॉयो-डाइजेस्टर में ट्रीट करने को कहा गया है। इसके अलावा स्कूल-कालेजों को सूखा कूड़ा शहरी स्थानीय निकायों और ग्राम पंचायतों को देने को कहा है। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों के वेस्ट मैटीरियल को डंप करके उस जगह का इस्तेमाल बच्चों के लिए खेल मैदान के तौर पर करने का सुझाव भी दिया गया है। बैठक में स्कूल-कालेजों के संबधित कर्मचारियों को सेनेटरी वेस्ट के डिस्पोज को लेकर स्पेशल ट्रेनिंग देने को भी कहा गया है। इस दौरान स्कूलोें में बच्चों को बॉयोडिग्रेडेबल और नॉन-बॉयोग्रिडेबल कूडे़ के बारे में बताने को भी कहा है। इसी कड़ी में शिक्षा विभाग ने स्कूल-कालेजों को आदेश जारी कर ये व्यवस्थाएं करवाने को कहा है।

You might also like