हमीरपुर में डांसर्ज ने लूटी महफिल

‘डांस हिमाचल डांस’ सीजन-7 को अंतरिक्ष माल में ऑडिशन, 300 ने दिखाई प्रतिभा

हमीरपुर -हिमाचल के अग्रणी मीडिया गु्रप ‘दिव्य हिमाचल’ के लोकप्रिय इवेंट ‘डांस हिमाचल डांस’ सीजन-7 के हमीरपुर में हुए ऑडिशन में कमाल का उत्साह देखने को मिला। डांस में अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए प्रतिभागी बेचैन थे। एक साल से इस इवेंट का बेसब्री से इंतजार कर रहे प्रतिभागियों की प्रतिभा देख जजमेंट पैनल हैरत में पड़ गया। पता ही नहीं चल पा रहा था कि ऑडिशन है या कंपीटीशन। प्रतिभागियों ने स्टेज पर पहुंचते ही समां बांध दिया। इनकी प्रतिभा की तारीफ करने से जजमेंट पैनल स्वयं को नहीं रोक सका। इनकी तारीफ में जजों ने जमकर कसीदे पढ़े। उन्होंने कहा कि यहां डांस में हर साल बेहतर देखने को मिल रहा है। इस बार तो कमाल का डांस मंच पर दिखा है। शहर के अंतरिक्ष मॉल में ऑडिशन के लिए प्रतिभागियों की होड़ मच गई। सुबह दस बजे बजे आरंभ हुआ ऑडिशन देर शाम तक चलता रहा। कार्यक्रम के मुख्यातिथि हिमाचल प्रदेश पुलिस विभाग की लॉ आफिसर राज रानी रहीं। विशेष अतिथियों के रूप में जिग्शा अबेकस अकादमी के एमडी दीवान भारद्वाज, सुपर मेग्नेट स्कूल के एमडी शगुन दत्त, वाटिका सूद, सूरज रेस्टोरेंट के मालिक अशोक धमीजा, अंतरिक्ष मॉल की एमडी पूजा ढटवालिया  व लोरियल ब्यूटी सैलून के एमडी अजय डोगरा भी मौजूद रहे। अतिथियों को डांस के मंच पर शॉल, टोपी व मोमेंटो देकर स मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ जजमेंट पैनल ने जूनियर वर्ग की प्रतिभागी तान्या को टैग लगाकर किया। इसके बाद प्रतिभागियों के सोलो और गु्रप डांस ने दर्शकों को नाचने पर मजबूर कर दिया। निर्णायक मंडल की भूमिका नवीन पाल, सपना सोनी व पायल ने निभाई। प्रतिभागियों ने स्टेज पर पंजाबी, हिंदी, पहाड़ी, पॉप व इंग्लिश गानों पर खूब धमाल मचाई। अन्य जिलों के उन प्रतिभागियों ने भी ऑडिशन में भाग लिया, जो किसी कारणवश ऑडिशन देने से वंचित रह गए थे। बच्चों के अभिभावक भी अपने लाडलों की परफार्मेंस देखकर भावुक हो उठे। बता दें इस मौके पर 150 के करीब पंजीकरण हुए एवं 300 कलाकारों ने अपनी बेहतरीन प्रस्तुति से सबका मन मोह लिया।

ऐसा मंच पहले कभी नहीं देखा

ऑडिशन में बतौर मुख्यातिथि पहुंची हिमाचल प्रदेश पुलिस विभाग की लॉ ऑफिसर राजरानी ने कहा कि ऐसा मंच उन्होंने इससे पहले नहीं देखा। उन्होंने कहा कि आज पता चल गया कि हमीरपुर में टैलेंट की कमी नहीं है। नन्हें प्रतिभागियों की दिल छू लेने वाली प्रस्तुति ने मुझे बहुत प्रभावित किया है। उन्होंने कहा कि इस तरह का मंच प्रदान करने के लिए ‘दिव्य हिमाचल’ का आभार व्यक्त करती हूं। हमारा जमाना था तो डांस का नामोनिशान नहीं था। बस एक ही चीज के लिए दवाब डाला जाता था। पढ़ो और अच्छी मुकाम हासिल कर लो।

ये रहे स्पांसर

‘डांस हिमाचल डांस’ के ऑडिशन में हमीरपुर जिला से हिम अकादमी पब्लिक स्कूल, हमीरपुर पब्लिक स्कूल, दि मेग्नेट स्कूल, जिग्सा अबेकस, सुपर मेग्नेट, सुपर मेग्नेट स्कूल ने प्रायोजक की भूमिका अदा की।

You might also like