हिमाचली मयंक का वर्ल्ड रिकार्ड

463 किमी एंडुरोमन रेस 50 घंटे 24 मिनट में जीत रचा इतिहास

बिलासपुर – हिमाचल के बिलासपुर जिला के नोआ गांव से ताल्लुक रखने वाले एथलीट मयंक वैद ने दुनिया की सबसे कठिन रेस एंडुरोमन ट्रायथलन को रिकार्ड समय 50 घंटे 24 मिनट में जीत लिया। उन्होंने पिछले वर्ल्ड रिकार्ड को दो घंटे छह मिनट के बड़े अंतर से तोड़ा। इससे पहले बेल्जियम के जूलियन डेनेयर ने 52 घंटे 30 मिनट में यह रेस जीती थी। मयंक यह रेस जीतने वाले एशिया के पहले और दुनिया के 44वें एथलीट बन गए। मंयक ने कहा, यह दुनिया की सबसे प्वाइंट टू प्वाइंट ट्रायथलन रेस है। दुनिया में अब तक इसे सिर्फ 44 लोग ही जीत सके हैं। मयंक ने दौड़ के लिए 16 घंटे 35 मिनट, तैराकी में 12 घंटे 48 मिनट और साइकिलिंग के लिए 13 घंटे 29 मिनट का समय निकाला। साथ ही मयंक ने पहले ट्रांजिशन में पांच घंटे 12 मिनट और दूसरे ट्रांजिशन में दो घंटे 20 मिनट का समय लिया। ट्रांजिशन वह समय होता है, जिसमें प्रतियोगी एक प्रतियोगिता से दूसरी तक पहुंचने के लिए समय लेता है। यह एंडुरोमन ट्रायथलन रेस लंदन के मार्बल आर्क से शुरू हुई थी। इसमें प्रतियोगियों ने शुरुआत में 140 दौड़ लगाई। इसके बाद केंट तट से प्रतियोगियों ने 33.8 किमी तैरकर चैनल पार किया और फ्रांस के तट पर पहुंचे। यहां से प्रतियोगियों ने 289.7 किमी साइकिल चलाकर पेरिस में रेस खत्म की। बिलासपुर से मयंक को बधाइयां दी जा रही हैं।

You might also like