अकेले सरकार बनाएगी कांग्रेस

पंचकूला  – हरियाणा में विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को मतदान से फारिग हुई कांग्रेस ने मंगलवार को दावा किया कि उसे 24 अक्तूबर को आने वाले चुनाव परिणाम में पूर्ण बहुमत हासिल होगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि कांग्रेस को हरियाणा में सरकार बनाने के लिए किसी अन्य पार्टी से गठबंधन की भी जरूरत नहीं है। कुमारी सैलजा ने हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मीडिया से बातचीत में एक्जिट पोल के परिणामों में सत्तारूढ भाजपा की फिर से बड़े बहुमत से वापसी के सवाल पर कहा कि उन्होंने एक्जिट पोल परिणामों को देखा ही नहीं है। मतदान और नतीजे आने के बीच इस तरह की अटकलें चलती रहेंगी। कांग्रेस ने एकजुट होकर चुनाव लड़ा है और उसे बहुमत हासिल होने वाला है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मेहनत की है।     उन्होंने कहा कि इस विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ भाजपा ने प्रधानमंत्री और अन्य शीर्ष नेताओं को उतारा था। उन्होंने हरियाणा के मुद्दों के बजाय राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की थी। इसका मतलब है कि हरियाणा की भाजपा सरकार को अपने कामकाज और नेताओं पर भरोसा नहीं था। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने हरियाणा की सभी सीटें जीती थीं। इसके बाद विधानसभा चुनाव में 75 से अधिक सीटें जीतने का नारा दिया था, लेकिन कांग्रेस के घोषणापत्र का व्यापक असर रहा। हर वर्ग को साथ लिया गया। उन्होंने कहा कि लोगों में आम चर्चा है कि सरकार कांग्रेस की बनेगी। इसके साथ ही कार्यकर्ताओं और नेताओं से रिपोर्ट ले रहे हैं। चुनाव में कांग्रेस ने हरियाणा केंद्रित अभियान चलाया। साथ ही कांग्रेस ने हरियाणा के मुद्दों से ध्यान नहीं हटने दिया। ईवीएम में गडबड़ी की शिकायतों पर कुमारी सैलजा ने कहा कि चुनाव आयोग को इन्हें दूर करना चाहिए। लोकतंत्र के लिए इस तरह की शिकायतें आना अच्छा नहीं है। कांग्रेस तो मतपत्रों से चुनाव की मांग कर रही है। चुनाव आयोग मतदान मशीनों में किसी भी तरह की गडबड़ी होने से इनकार करता रहा है। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी अस्वस्थ होने के कारण हरियाणा चुनाव प्रचार के लिए नहीं आईं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में तीसरा खिलाड़ी चुनाव मैदान था, लेकिन इस बार उसका बिखराव हो गया है।

You might also like