अबी अहमद को नोबेल शांति पुरस्कार

वर्ष 2019 का नोबेल शांति पुरस्कार इथियोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद अली को मिला है। यह पुरस्कार उनके देश के चिर शत्रु इरिट्रिया के साथ संघर्ष को सुलझाने के लिए  उन्हें दिया गया है। नोबेल पुरस्कार जूरी ने बताया कि अबी अहमद अली को शांति और अंतरराष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करने के प्रयासों के लिए और विशेष रूप से पड़ोसी इरिट्रिया के साथ सीमा संघर्ष को सुलझाने की निर्णायक पहल के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इथियोपिया और इरीट्रिया के बीच 22 साल पुराने युद्ध के अंत में अहम भूमिका निभाने के चलते अबी अहमद अली को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। जुलाई 2018 में दोनों देशों के बीच शांति समझौता हुआ था। 2018 में प्रधानमंत्री बनने के बाद अबी अहमद ने इथियोपिया में बड़े पैमाने पर उदारीकरण की शुरुआत की। उन्होंने हजारों विपक्षी कार्यकर्ताओं को जेल से रिहा कराया और निर्वासित असंतुष्टों को देश में वापस लौटने की इजाजत दी। सबसे अहम काम जिसके लिए  उन्हें नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया, पड़ोसी देश इरिट्रिया के साथ दो दशक से भी अधिक समय से चले आ रहे संघर्ष को खत्म करते हुए उसके साथ शांति स्थापित की। हालांकि  उनके सुधारों ने इथियोपिया के नस्लीय तनाव पर से पर्दा उठा दिया, इसके बाद हुई हिंसा में 25 लाख लोगों को अपना घर-बार छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। सितंबर 2018 में अबी ने इरिट्रिया और जिबूती के बीच कई सालों से चली आ रही राजनीतिक शत्रुता को खत्म कर कूटनीतिक रिश्तों को सामान्य बनाने में मदद की। इसके अलावा अबी ने केन्या और सोमालिया में समुद्री इलाके को लेकर चले आ रहे संघर्ष को खत्म करने में मध्यस्थता की। गौरतलब है कि नोबेल पुरस्कार दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है और यह छह क्षेत्रों चिकित्सा, भौतिकी, रसायन, साहित्य, शांति और अर्थशास्त्र में बेहतर प्रदर्शन करने वालों को दिया जाता है।  वर्ष1901 में नोबेल प्राइज की शुरुआत हुई थी।

You might also like