आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे भारत-फ्रांस

राजनाथ ने फ्रांसीसी समकक्ष के साथ की द्विपक्षीय रक्षा संबंधों से जुड़े मुद्दों की समीक्षा

पेरिस – रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि उन्होंने अपनी फ्रांसीसी समकक्ष के साथ ‘उपयोगी बातचीत’ की और इस दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय रक्षा संबंधों से जुड़े सभी मुद्दों की समीक्षा की। इसके साथ ही दोनों पक्षों ने आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए सहयोग को और प्रगाढ़ करने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जताई। श्री सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली ने दूसरी भारत-फ्रांस मंत्रिस्तरीय वार्षिक रक्षा वार्ता की। इससे पहले फ्रांस ने भारत को पहला राफेल युद्धक विमान औपचारिक रूप से सौंपा था। श्री सिंह ने बैठक के बाद ट्वीट किया कि फ्लोरेंस पार्ली के साथ उपयोगी चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि हमने अपने द्विपक्षीय रक्षा संबंधों के सभी मुद्दों का आकलन और समीक्षा की। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि वार्षिक रक्षा वार्ता के दौरान दोनों मंत्रियों ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग की व्यापक समीक्षा की। रक्षा सहयोग भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी का प्रमुख स्तंभ है।

संयुक्त रक्षा अभ्यासों को विस्तार देने पर सहमति

दोनों पक्षों ने संयुक्त रक्षा अभ्यासों-शक्ति, वरुण और गरुड़ के कार्य क्षेत्र को विस्तार देने पर सहमति भी व्यक्त की। दोनों देशों ने यह स्वीकार किया कि हिंद महासागर क्षेत्र में भारत-फ्रांस साझेदारी रणनीतिक और सुरक्षा हितों को संरक्षित करने और बढ़ावा देने के लिए महत्त्वपूर्ण है। दोनों मंत्रियों ने हिंद महासागर क्षेत्र में भारत-फ्रांस सहयोग के संयुक्त रणनीतिक विजन में उल्लिखित कार्यों को जारी रखने की बात कही।

You might also like