इस बार करोड़ों रुपए की सब्जियां खा गई बरसात

शिमला – हिमाचल प्रदेश में इस बार भारी बरसात के कारण किसानों के खेतों से फल-सब्जियां सही वक्त पर बाजारों तक नहीं पहुंच पाईं। इस वजह से करोड़ों रुपए का नुकसान किसान-बागबानों को हुआ है। कृषि विभाग के आंकड़ों की बात करें, तो इस बार बरसात में सब्जियों को 2165.39 करोड़ का नुकसान हुआ है। आलू की खेती को 114.30 करोड़, अदरक की खेती करने वाले किसानों को 157. 06 करोड़ वहीं, तेल से संबंधित पौधों को 2531.49 करोड़ तक का नुकसान हिमाचल के विभिन्न क्षेत्रों के किसानों को हुआ है। इसी कारण हिमाचल में सब्जियां मंहगे दामों पर मिल रही हैं, क्योंकि हिमाचल में पैदावार कम हो हुई है। राज्य के कई जगहों पर बाहरी राज्यों से वेजिटेबल की सप्लाई लाई जा रही है। गौर हो कि हिमाचल में अदरक पहले से ही काफी महंगा मिलता है। ऐसे में यदि इस बार भी फसल की ज्यादा पैदावार न हुई तो लोगों को भारी नुकसान हो सकता है। बताया जा रहा है कि किसानों को अदरक का बीज देने के लिए भी विभाग को बाहरी राज्यों से ही सप्लाई मंगवानी पड़ेगी।  उल्लेखनीय है कि इन दिनों हिमाचल प्रदेश में वेजिटेबल व अन्य खाद्य वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं। उधर, सब्जियों सहित अन्य फसलों की कम पैदावार से महंगाई और बढ़ सकती है। वर्तमान की बात करें  तो हर सब्जी 40 व 50 रुपए से कम नहीं है। वहीं, प्याज के बाद अब टमाटर के दामों में भी काफी उछाल आया है। गुरुवार को टमाटर के दाम 80 रुपए प्रतिकिलो तक पहुंच गए। बता दें कि इस साल बरसात की वजह से किसानों की 4796 हेक्टेयर जमीन तबाह हुई है। यह वही जमीन है, जहां पर किसान व बागबानों ने विभिन्न सब्जियां उगाई थीं। फिलहाल सरकार किसानों के नुकसान की तो भरपाई कर देगी, लेकिन सवाल यह है कि बाजारों में दिन-प्रतिदिन बढ़ती महंगाई को कम करने के लिए सरकार क्या कदम उठाएगी। दरअसल महंगी सब्जियों से आम लोगों का बजट बिगड़ गया है। वहीं सरकार ने फैसला लिया है कि जिन किसानों को इस बार 33 प्रतिशत से ज्यादा नुकसान हुआ है, उन्हें उचित मुआवजा दिया जाएगा।

आलू की पैदावार में भी कमी के आसार

इस साल आलू की पैदावार में भी काफी कमी आई है। विभाग के अनुसार आलू की फसल में इस बार 40 फीसदी तक कमी आई है। ऐसे में हो सकता है कि आने वाले समय में आलू भी महंगा हो जाए। इसके अलावा अदरक की कम पैदावार होने से लोगों की दिक्कतें बढ़ सकती हैं। सर्दियों में अदरक वाली चाय पीने वालों को भी झटका लग सकता है।

You might also like