करसोग में पूर्व सैनिकों से बदसलूकी

सीएसडी कैंटीन में आए पूर्व सैनिकों-आश्रित परिवारों ने जताई आपत्ति, प्रबंधक को लिखित शिकायत भेजी

 करसोग  –उपमंडल मुख्यालय करसोग में  सैनिकों तथा पूर्व सैनिकों की सुविधा के लिए हर महीने आने वाली  सीएसडी कैंटीन से पात्र फौजियों को कम सुविधा तथा लाले की दुकान जैसा व्यवहार करने संबंधी लिखित आरोप करसोग में लगाए गए हैं। जिसकी लिखित शिकायत पुर्व सैनिक परिवार से संबंध रखने वाले तनुज शर्मा निवासी ममेल ने जिला सीएसडी कैंटीन प्रबंधक मेजर श्रवण को भी भेजते हुए कार्रवाई की मांग रखी है। पूर्व सैनिकों के आश्रितों साथ दुर्व्यवहार किए जाने का मामला करसोग में आया है जिसकी पूरी जानकारी तनुज शर्मा ने लिखित रूप से देते हुए कहा कि इस महीने जब सीएसडी कैंटीन मंडी जिला मुख्यालय से दो दिन के लिए करसोग आई तो उसमें कुछ पूर्व सैनिकों तथा उनके आश्रितों के साथ दुर्व्यवहार किया गया है जो कतई सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह दुर्व्यवहार सीएसडी कैंटीन के साथ सामान वितरण के लिए जो अधिकारी आए हुए थे उनके द्वारा किया गया है। तनुज शर्मा ने कहा कि वह पूर्व सैनिक रहे अपने पिताजी का सीएसडी कैंटीन कार्ड लेकर घरेलू सामान लेने के लिए करसोग पहुंची कैंटीन में पहुंचे जहां पर कार्ड का नवीनीकरण करने के लिए संबंधित अधिकारी द्वारा मना कर दिया गया तथा जब अन्य पूर्व सैनिकों के आश्रित का कैंटीन कार्ड नवीनीकरण होते हुए देखा तो तनुज शर्मा ने अपने कार्ड को भी नवीनीकरण करने की प्रार्थना की परंतु संबंधित अधिकारी ने कार्ड को झटकते हुए सम्मान देने से भी मना कर दिया तथा ऐसा ही दुर्व्यवहार क्षेत्र की प्रैसी गांव से आए दुर्गादास के साथ हुई किया गया। दुर्गादास अपने पुत्र के साथ ग्रासरी कार्ड को लेकर उस दिन पहुचें हुए थे उन्हें भी इसी तरह के दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा अंत में बिना सामान खाली हाथ ही अपने घर लौटना पड़ा है। तनुज शर्मा ने कहा कि पूर्व सैनिकों के आश्रितों ने यह आरोप लगाया है कि सीएसडी कैंटीन वाले बाहर से आए हुए दुकानदारों व रिश्तेदारों के कार्ड लेकर आए होते हैं उन्हें मनमर्जी का सामान देते हैं जबकि उन्हें अपनी जरूरत का सामान भी नहीं मिल पाता है तथा ऐसा हर महीने कभी भी औचक निरीक्षण के दौरान सीएसडी कैंटीन के उच्च अधिकारी करसोग में देख सकते हैं तनुज शर्मा ने कहा कि इस तरह की धांधली बंद होनी चाहिए। सीएसडी कैंटीन का काम पूर्व सैनिकों तथा सैनिकों की सुविधा के लिए ही होना चाहिए व पूर्व सैनिकों के आश्रितों को सुविधा के अनुसार पूरा सामान मिलना चाहिए जबकि संबंधित अधिकारी अपने चहेतों को ही मनमर्जी का सामान आवंटित करते हैं तथा उनके रहमों करम पर ही करसोग में पूर्व सैनिकों के आश्रितों को रहना पड़ता है जिसकी पूरी लिखित शिकायत जिला कैंटीन प्रबंधक को भेज दी है। इस मामले में तथा हकीकत हे कि जिस दिन सीएसडी केंटीन करसोग आती है उस दिन सेनिकों के साथ-साथ आम लोग भी भारी संख्या में केटीन के आस-पास मंडराते हुए सामान खरीद करने का जुगाड करने में सफल हो जाते है जिस पर गोर करना चाहिए। इस बारे सीएसडी कैंटीन जिला प्रबंधक मंडी मेजर श्रवण ने कहा कि उक्त शिकायत तनुज शर्मा द्वारा की गई है जिसकी पूरी जानकारी मिली है तथा छानबीन शुरू कर दी गई हुई है जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्यवाही की जाएगी। जिसने भी सीएसडी कैंटीन समान वितरण में लापरवाही या  दुर्व्यवहार किया होगा उसके खिलाफ  कार्रवाई अमल में जरूर लाई जाएगी। हरसंभव प्रयास किया जाएगा के पूर्व सैनिकों तथा सैनिकों के आश्रितों को सीएसडी कैंटीन  से अच्छी से अच्छी सुविधा मिल  सके फिलवक्त मिली शिकायत  के आधार पर छानबीन शुरू कर दी गई है।

 

You might also like